मेकअप

घर में शादी का माहौल था |लता के छोटे बेटे की शादी थी| लता आज बहुत ही खुश थी |हल्दी  रस्म शुरू होने वाली थी| सारे मेहमान भी आ गए थे|लता कि बड़ी बहू ने कहा ," मां ..आप भी आज मेकअप कर लीजिए ,अच्छी तरह से सज संवर लीजिए ,यही तो मौका है मां सजने संवरने का |"  तब लता ने कहा, "हमारे जमाने में सजने संवरने का इतना प्रसाधन ही नहीं था बहू, और और मेरी आदत भी नहीं, तेरे पिताजी ने भी कभी इतना ध्यान ही नहीं दिया|"

फिर लता की बहू ने कहा,.."नहीं मां ,मैं आज आपका मेकअप जरूर करूंगी !..और आज आपको अच्छे से सजाऊंगी ,आपको सजना ही होगा बहू की जिद करने पर लता मान गई ,जैसे वह भी अंदर से यह चाहती  थी ,मेकअप करना! " लता हमेशा साधारण ढंग से ही रहती थी ,एक बड़ी सी लाल बिंदी लगाकर और हल्का सा चेहरे पर पाउडर लगाकर|  लता की बहू ने लता को खूब अच्छे से तैयार कर दिया सज संवरकर और नए तरीके का मेकअप करवा कर लता आज अलग ही दिख रही थी | हल्दी की रस्म शुरू हो रही थी..,लता के बेटे को बैठाया गया ,जब लता छोटे बेटे के सामने आई, तो वह अपनी मां को इस रूप में देखकर आश्चर्यचकित हो गया !उसकी भाभी समझ गई ,और कहने लगी ,अरे देवर जी मां को ऐसे क्यों देख रहे हैं !आज मां कितनी अच्छी दिख रहीं हैं ना! "   लता जैसे ही हल्दी लगाने लगी अपने बेटे के गाल पर ,..तो उसके बेटे ने अपनी मां का हाथ पकड़ते हुए कहा ,.."मां मेरी नजर में तो इस संसार की सबसे सुंदर स्त्री तुम ही हो! तुम्हारी जैसी सुंदरता आज तक मैंने किसी और में नहीं देखी! तुम बिना मेकअप के भी बहुत ही खूबसूरत लगती हो मां ,मेकअप की जरूरत तो उन्हें होती है जो खूबसूरत दिखना चाहते हैं, है ना भाभी ! ..मैं भाभी की भावना का सम्मान करता हूं ,..पर मेरी मां तो ऐसे ही बहुत खूबसूरत हैं,..उन्हें मेकअप की क्या जरूरत है! "

उसके बेटे ने सबके सामने ऐसा इसलिए कहा क्योंकि, "जब लता तैयार होकर मेकअप में बाहर आ रही थी ,तो दो तीन औरतें हास्य  भरी नजरों से लता को देख रहीं थीं..और उनमें से एक ने दबी जुबान में  कहा भी,..देखो इनको !अब बुढ़ापे में इतना मेकअप का शौक चढ़ा है! " और यह बातें "उसके छोटे बेटे ने सुन ली थी|"

तभी लता की बड़ी बहू ने अपने देवर के बातों को सुनकर कहा, "सच में आज तो आपके इस भावपूर्ण बातों से मां की खूबसूरती में तो..जैसे चार चांद लग गए हैं! देवर जी !और मां तो होतीं ही खूबसूरत है ! " यह बातें सुनकर "लता की आंखों में आंसू आ गए" और हल्दी लगाकर वह चुपचाप अंदर चली गई | अंदर जाकर लता ने अपना" मेकअप साफ किया "और हमेशा की तरह हल्का सा पाउडर लगाकर और लाल रंग की  बड़ी सी बिंदी लगाकर बेटे के सामने आई |  उसके बेटे ने फोटोग्राफर से अपने साथ लता की फोटो खींचने के लिए कहा और लता के साथ हल्दी लगाकर खूब सारा फोटो खिंचवाया| उसकी भाभी ने भी "लता और अपने देवर के साथ खूब सारी सेल्फी ली "और इस तरह से खुशी-खुशी हल्दी की रस्म पूरी हो गई|


अनामिका मिश्रा

झारखंड, सरायकेला (जमशेदपुर)