पारस डीएपी के एरिया सेल्स मैनेजर ने किसानों को प्रशिक्षित कर दी जानकारी

जखनियां/ गाजीपुर। इंडोरामा इंडिया प्राइवेट लिमिटेड पारस डीएपी की तरफ से किसान प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन जखनियां के ग्राम नसरुल्लाह में आयोजित किया गया। पारस डीएपी की तरफ से वाराणसी से आए  एरिया सेल्स मैनेजर  पुनित सिंह ने मिट्टी परीक्षण बीज उपचार संतुलित मात्रा में खाद का प्रयोग कीट प्रबंधन एवं रोग प्रबंधन आदि के विषय में जानकारी देते हुए  डीएपी का निर्माण कैसे किया जाता है, साथ ही  किसानों को पास मशीन के द्वारा आधार कार्ड से कैसे खाद खरीदी जाए के विषय में भी विशेष रूप से प्रशिक्षित करते हुए  बताया कि डीएपी पोटाश सल्फर एवं जिंक का प्रयोग बुवाई के समय करना चाहिए। उसके बाद ही खरपतवार नाशक दवा का प्रयोग करना चाहिए। शीत ब्लाइट बैक्टीरियल लीफ ब्लाइट तना छेदक के प्रबंध के साथ साथ झुलसा का उपचार कैसे किया जाए उसके विषय में भी जानकारी प्रदान की गई। खास तौर पर बताया गया कि बैक्टीरियल ब्लाइट झुलसा से धान खराब हो रहा है। किसानों को जानकारी के अभाव में  खेतों में लगी लगाई फ़सल बर्बादी की भेंट चढ़ जाती हैं।  फसलों में खरपतवार नाशक जिंक की कमी ,पोटाश की कमी और यूरिया के अधिकता से फसल लगातार बर्बाद होने लगती है ।संतुलित मात्रा में खाद का प्रयोग कैसे किया जाए 17 तत्वों के विषय में किसानों को बताया गया कीक्षखेतों में पोटाश डालना बहुत ही आवश्यक है जो यहां के किसान ना के बराबर प्रयोग करते हैं । गौरतलब हैकि इंडोरामा इंडिया प्राइवेट लिमिटेड सन 1982 से पारस डीएपी की सप्लाई हिंदी लीवर से टाटा  से इंडोरामा तक के सफर में लगातार किसानों को दिया जाता है जिसका मुख्य उद्देश है आपका भरोसा। हर किसानों को प्रशिक्षण देते समय कोविड-19 का विशेष रूप से ध्यान रखते हुए किसानों को मास्क सैनिटाइजर  एवं दूरी का पालन करने तथा कोरोना के प्रति लापरवाही नहीं बरतने की भी हिदायत दी गई।   16 ग्राम सभा में मिट्टी की जांच कराने पर पोटाश की कमी पायी गयी। जिसमें सरकार लगातार मिट्टी के परीक्षण को प्रशिक्षण दे रही है। कार्यक्रम की अध्यक्षता रामचंद्र सिंह तथा संचालन अनिल कुमार सिंह ने किया।इस मौके पर वीरेंद्र सिंह कैलाश खरवार नन्हकू चौहान हुकुम खरवार आदि उपस्थित थे।