अखरोट खाने से नहीं बढ़ेगा कोलेस्ट्रॉल, बस जान लें सही तरीका

ब्लड में कोलेस्ट्रॉल अधिक बढ़ने से हार्ट अटैक का खतरा बना रहता है। ऐसे में कोलेस्ट्रॉल को बढ़ने से रोकना अपने आप में एक चौलेंज है। ब्लड में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा अधिक होने पर डॉक्टर भी सबसे पहले खानपान में परहेज करने की सलाह देते है। जिसके बाद वह इलाज शुरू करते हैं। वहीं इस पर आई एक नई रिसर्च में पता चला है कि अखरोट का सेवन करने से कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम किया जा सकता है। एक रिपोर्ट के अनुसार, इस पर किए गए एक शोध में कार्डियोवास्कुलर (हार्ट और धमनियों से संबंधित) बीमारियों के रिस्क वाले लोगों को कम से कम 8 सप्ताह तक अखरोट खाने को दिया गया। जिसके बाद उनके टोटल कोलेस्ट्रॉल, ट्राइग्लिसराइड्स और लो-डेंसिटी लिपोप्रोटीन (स्क्स्) या बैड कोलेस्ट्रॉल के लेवल में जबरदस्त कमी देखी गई। 

तीन भागों में किया गया अध्ययन

इस रिसर्च के लिए 30 से 75 साल के 52 ऐसे लोगों लिया गया ये सभी लोग वह थे  जिन्हें कार्डियोवास्कुलर रोगों का काफी रिस्क था, शोद में इन्हें तीन भागों में बांटा गया, पहले ग्रुप के लोगों को रोजाना खाने में 68 ग्राम अखरोट यानि करीब 470 कैलोरी दिया गया, तो दूसरे ग्रुप को लोगों को अखरोट की जगह उतनी ही कैलोरी वाला अन्य पदार्थ दिया गया, वहीं तीसरा कंट्रोल ग्रुप था, जिन्हें अखरोट नहीं दिया गया।

अखरोट खाने वाले ग्रुप के लोगों में ट्राइग्लिसराइड का लेवल बहुत कम पाया गया

इसके 8 सप्ताह बाद इन लोगों को हाई फैट वाला खाना दिया गया, ताकि उनके ब्लड लिपिड और ग्लूकोज या शुगर की मात्रा में बदलाव को जांचा जा सके। जांच में दो ग्रुप में फास्टिंग ब्लड लिपिड में एक जैसा सुधार देखा गया, जबकि अखरोट खाने वाले ग्रुप के लोगों में पोस्ट मील ट्राइग्लिसराइड का लेवल बहुत कम पाया गया। शोधकर्ताओं के अनुसार, जिन लोगों को अखरोट खाने को दिया गया, उनके टोटल कोलेस्ट्रॉल में 5 फीसदी और एलडीएल में 6 से 9 फीसदी तक की कमी देखी गई ।

आईए जानते हैं अखरोट खाने के और क्या-क्या है फायदें और इसे कैसे खाना चाहिए-

सूखे अखरोट की बजाय भीगा हुआ अखरोट खाएं 

अखरोट को कच्चा खाने की बजाए भिगोकर खाना चाहिए, भीगे हुए बादाम खाना जितना फायदेमंद है उतना ही फायदेमंद भीगे हुए अखरोट खाना भी है। भीगा हुआ अखरोट कई बीमारियों से निजात दिलाने में मदद करता है।

अखरोट खाने के फायदें-

डायबिटीज कंट्रोल करता है

अखरोट खाने से ब्लड शुगर और डायबिटीज से बचा जा सकता है। कई स्टडीज में यह बात सामने आई है कि जो लोग रोजाना 2 से 3 चम्मच अखरोट का सेवन करते हैं, उनमें टाइप-2 डायबिटीज होने का खतरा कम हो जाता है। अखरोट ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने में मदद करता है जिससे डायबिटीज का खतरा कम होता है।

हड्डियों में मजबूती बनाएं

अखरोट में में अल्फा-लिनोलेनिक ऐसिड पाया जाता है जो हड्डियों को मजबूत करने में मदद करता है। इसके अलावा, अखरोट में मौजूद ओमेगा-3 फैटी ऐसिड सूजन को भी दूर करता है।

डाइजेशन ठीक करता है 

अखरोट फाइबर से भरपूर होता है, पेट सही रखने और कब्ज से बचने के लिए फाइबर युक्त चीजें खानी जरूरी है। ऐसे में अगर आप रोजाना अखरोट का सेवन करते हैं, तो आपका पेट भी सही रहेगा और कब्ज भी नहीं होगा। 

तनाव दूर करें

अखरोट खाने से तनाव और स्ट्रेस दूर होता है और अच्छी नींद भी आती है। अखरोट में मेलाटोनिन होता है, जो बेहतर नींद लाने में मदद करता है। वहीं, ओमेगा-3 फैटी ऐसिड ब्लड प्रेशर को संतुलित कर तनाव से राहत दिलाता है।