चाहकर भी नहीं कम होगा वजन अगर शरीर में होगी इस विटामिन की कमी

विटामिन-डी एक वसा में घुलनशील विटामिन है, जो सेहतमंद रहने के लिए बहुत जरूरी है। यह कई शारीरिक गतिविधियों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इसके अलावा मजबूत इम्यूनिटी, मजबूत दांत, मांसपेशियों और हड्डियां, दिल के रोग, मधुमेह और कैंसर को रोकने में भी विटामिन डी बहुत कारगार है। अब सवाल यह उठता है कि क्या आपके शरीर को पर्याप्त विटामिन डी मिल रहा है?

50% लोगों में विटामिन डी की कमी

विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, दुनिया भर में लगभग 50% लोग विटामिन डी की कमी से जूझ रहे हैं। इसकी कमी थकान, मांसपेशियों में दर्द, जोड़ों की समस्याओं, कमजोर हड्डी, बोन डेंसिटी कम होना, बार-बार संक्रमण और बालों का झड़ने का कारण बन सकती है।

क्या वजन को भी प्रभावित करता है विटामिन डी

शोध की मानें तो इसकी कमी वजन को भी प्रभावित कर सकती है। नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फॉर्मेशन के शोध से पता चला है कि शरीर में वसा प्रतिशत और बीएमआई (बॉडी मास इंडेक्स) रक्त में विटामिन डी के निम्न स्तर से जुड़ा हो सकता है। इसके अलावा महिलाओं में पेट की चर्बी निकलने का कारण भी विटामिन डी की कमी हो सकती है।

क्या विटामिन डी बढ़ाने से कम हो जाएगा वजन?

1. अध्ययनों के मुताबिक, विटामिन डी असल में वजन कम करने और फैट बर्न करने में मददगार साबित हो सकता है। विटामिन डी ब्लड सर्कुलेशन बढ़ाता है और वसा कोशिकाओं के निर्माण को कम कर सकता है। यह शरीर में एनर्जी लेवल भी बढ़ाता है, जिससे वजन घटाने में मदद मिलती है।

2. इसके अलावा विटामिन डी मेटाबॉलिज्म बूस्ट और पाचन क्रिया को दुरूस्त करता है। साथ ही यह फैट को अवशोषित करके सेल्घ्स की क्षमता को कम करता है, जिससे वेट लूज में मदद मिलती है।

कितनी मात्रा लेना जरूरी?

. 6 महीने से 13 साल के बच्चे - एक दिन में 400 आईयू के करीब

. युवाओं व बुर्जग - एक दिन में रोजाना 600 आईयू के करीब

. गर्भवती या स्तनपान करवाने वाली महिलाएं - एक दिन में 600 आईयू के करीब

विटामिन डी की कमी के लक्षण

. बालों का झड़ना

. कमजोर दांत

. बार-बार सांस संबंधी संक्रमण होना

. कब्ज और दस्त

. थकान, तनाव और बेचौनी

. कमजोर इम्यून सिस्टम

. हड्डी और मांसपेशियां में दर्द

. अधिक पसीना आना

कैसे पूरी करें विटामिन डी की कमी?

विटामिन डी की कमी पूरी करने का सबसे अच्छा तरीका है सुबह की गुनगुनी धूप लेना। इसके अलावा आप दूध, हरी सब्जियां, अंडा, टमाटर, नींबू, माल्टा, मूली, पत्तागोभी और पनीर का सेवन करके भी इसकी कमी को पूरा कर सकते हैं। आप विटामिन डी सप्लीमेंट भी ले सकते हैं लेकिन पहले डॉक्टर से सलाह लें।

posted by - दीपिका पाठक