शराब से कम हो सकती है महिला-पुरुष की फर्टिलिटी, जानिए कैसे रखें बचाव

पार्टी या किसी खास मौके पर शराब पीना आजकल आम बात हो गई हैं। वहीं, सिर्फ पुरुष ही नहीं बल्कि महिलाएं भी शराब पीने की आदि हो गई हैं। मगर, क्या आप जानते हैं कि इससे सिर्फ कैंसर जैसी घातक बीमारियां ही नहीं बल्कि बांझपन भी हो सकता है। हाल ही में हुई रिसर्च के मुताबिक, 35ः पुरुषों-महिलाओं में होने वाली इंफर्टिलिटी का कारण शराब था।

शराब की कितनी मात्रा पुरुषों के लिए हानिकारक

शोध के मुताबिक, अधिक व नियमित तौर पर शराब का सेवन पुरुषों-महिलाओं में इनफर्टिलिटी का कारण बन सकता है। हर 2 घंटे में 5 से अधिक ड्रिंक लेने वाले पुरुषों में इसकी वजह से स्पर्म काउंड भी कम हो सकता है। अगर कोई हफ्ते में 14 से अधिक ड्रिंक लेता है तो उसका टेस्टोस्टेरोन लेवल कम होगा, जिससे स्पर्म काउंट पर असर पड़ेगा।

पुरुषों पर होता है अधिक असर

. इसके अलावा शोध का कहना है कि इससे पुरुषों के हेल्दी स्पर्म का साइज, शेप और मुवमेंट में बदलाव आ सकता है। इसके अलावा यह टेस्टिस का सिकुड़ना, नपुंसकता का कारण बनता है।

. अधिक शराब पीने से पुरुषों में फॉलिकल स्टीमुलेटिंग हार्मोन, टेस्टेस्टेरॉन लेवल, लुटीनाइजिंग हार्मोन में कमी आ सकती है, जो स्पर्म प्रोडक्शन को प्रभावित करता है।

. कंसीव करने से 3 महीने पहले तक पिता के शराब पीने से शिशु में कंजेनाइटल हार्ट डिजीज का खतरा 44-52ः तक बढ़ जाता है।

महिलाओं की फर्टिलिटी कैसे होती है प्रभावित?

शोध का कहना है कि ज्यादा शराब पीने से महिलाओं में कंसीव करने की क्षमता कम हो सकती है। वहीं, इसके कारण उन्हें प्रेगनेंसी में भी दिक्कते आ सकती है।

. अधिक मात्रा में शराब पीने की वजह से खून में प्रोलैक्टीन की मात्रा बढ़ सकती है

. टेस्टोस्टेरोन, ल्यूटिनाइजिंग, एस्ट्राडियोल हार्मोन में बदलाव

. पीरियड्स साइकल अनियमित होना या एमेनोरिया

. प्रेगनेंसी में शराब पीने से शिशु को फेटल एलकोहल स्पेक्ट्रम डिसऑर्डर  हो सकता है।

कैसे बढ़ाएं फर्टिलिटी?

फर्टिलिटी को बढ़ाने के लिए पुरुष-महिलाएं शराब, स्मोकिंग, तंबाकू का सेवन छोड़ें और लाइफस्टाइल में बदलाव लाए। इसके अलावा....

. डाइट में हरी पत्तेदार सब्जियां, मौसमी फल, साबुत अनाज का सेवन करें।

. डायबिटीज, हाई ब्लड प्रेशर, अस्थमा को कंट्रोल में रखें

. वजन को कंट्रोल में रखें क्योंकि इससे भी सेहत पर असर पड़ता है।

कब नहीं पीनी चाहिए शराब?

फैमिली प्लानिंग कर रहे हैं तो कम से कम 6 महीने पहले शराब का सेवन बिल्कुल बंद कर दें। इससे स्पर्म काउंट बढ़ेगा और शिशु का हार्ट भी स्वस्थ रहेगा। साथ ही इससे शिशु कई विकारों व बीमारियों से बचा रहेगा। इसके अलावा महिलाएं प्रेगनेंसी में भूलकर भी शराब ना पीएं। इससे ना सिर्फ भ्रूण के विकास पर असर पड़ता है बल्कि जन्म के समय उसे कई बीमारियों का खतरा भी रहता है।