लिवर की सूजन से तुरंत आराम दिलाएंगे ये घरेलू नुस्खे

शरीर के बाकी अंगों की तरह लिवर भी बेहद महत्वपूर्ण हिस्सा है। यह शरीर में मौजूद विषैले पदार्थों को बाहर निकालने, भोजन पचाने आदि में मदद करता है। एक्सपर्ट्स के अनुसार, लिवर स्वस्थ होने से 80 प्रतिशत तक बीमारियों की चपेट में आने का खतरा कम रहता है। मगर भारी मात्रा में जंक, ऑयली, अधिक मसालेदार चीजों का सेवन करने से लिवर पर बुरा प्रभाव पड़ता है। इसके साथ ही लिवर की कोशिकाओं में अधिक मात्रा में फैट जमा होने से फैटी लिवर की परेशानी हो जाती है। इसके कारण लिवर कमजोर होने से इसकी कार्यक्षमता धीमी पड़ने के साथ सूजन होने लगती है। साथ ही अन्य बीमारियों की चपेट में आने का खतरा बढ़ता है। ऐसे में अगर आप इस समस्या से परेशान है तो इससे बचने के लिए कुछ घरेलू उपाय अपना सकती है।

फैटी लीवर से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय...

आंवला- फैटी लीवर से बचने के लिए आप दिन में 3 बार 4-4 ग्राम आंवला का चूर्ण खा सकते हैं। इसके अलावा रोजाना 3-4 कच्चे आवंला खाने से भी फायदा मिलता है। विटामिन सी, एंटी-ऑक्सीडेंट्स से भरपूर आंवला फैटी लीवर की समस्या को दूर करने में बेहद कारगर माना गया है। एक्सपर्ट्स के अनुसार, इसका 20-25 दिनों तक लगातार सेवन करने से लीवर संबंधी रोगों से आराम मिलता है।

छांछ- दोपहर के समय छाछ में हींग, जीरा पाउडर, काली मिर्च पाउडर और नमक मिलाकर पीने से फायदा मिलता है।

ग्रीन टी- ग्रीन टी का सेवन करने से लीवर पर जमा एक्सट्रा फैट भी कम होने में मदद मिलती है।

गौमुत्र- गौमूत्र को फैटी लीवर के इलाज में अमृत के समान माना जाती है। आयुर्वेद अनुसार, रोजाना खाली पेट 20 मि.ली. गौमुत्र पीने से फैटी लीवर की परेशानी दूर होने में मदद मिलती है।

नींबू और संतरे का जूस- विटामिन सी और अन्य जरूर तत्वों व एंटी-ऑक्सीडेंट्स से भरूपर नींबू और संतरे का जूस पीने भी फायदेमंद रहेगा।

करेले का जूस- फैटी लीवर से परेशान लोगों को डेली डाइट में करेला शामिल करना चाहिए। आप इसका सब्जी या जूस के तौरपर सेवन कर सकती है।

सेब का सिरका- सेब का सिरका लीवर में जमा फैट  कम करने में कारगर माना गया है।

जामुन- एक्सपर्ट्स के अनुसार, फैटी लीवर के मरीजों को रोजाना काली पेट 200 से 300 ग्राम जामुन खाने चाहिए।

टमाटर- फैटी लीवर की समस्या से छुटकारा पाने के लिए कच्चे टमाटर का सेवन करना फायदेमंद माना जाता है।

हल्दी- हल्दी पोषक तत्वों के साथ औषधीय गुणों से भरपूर होती है। इसके अलावा इसमें एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-वायरल, हेपटो प्रोटेक्टिव आदि गुण लीवर की क्रियाशीलता को बनाएं रखने में मददगार साबित होते हैं। ऐसे में आप इसे अपनी डेली डाइट में जरूर शामिल करें।

नारियल पानी- इसमें एंटी-ऑक्सीडेंट्स, एंटी-बैक्टीरियल,  हेपटो प्रोटेक्टिव आदि गुण फैटी लीवर की समस्या से राहत पहुंचाने में मदद करते हैं।