सुयोग्य शिक्षक बनकर आप अपने कार्यकाल को यादगार बना सकते है -योगी

गाजीपुर। मिशन रोजगार के अंतर्गत राजकीय माध्यमिक विद्यालयों में उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग से चयनित 88 प्रवक्ता एवं एल टी ग्रेड के सहायक अध्यापकों को जिला पंचायत सभागार  में नियुक्ति पत्र प्रदान किया गया। इस अवसर पर जिला पंचायत  सभाकक्ष में  विधायक जमानियां सुनीता सिंह व जिलाधिकारी एम पी सिंह ने संयुक्त रूप से नवनियुक्त शिक्षको को नियुक्ति पत्र वितरित किया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ के लोक भवन से 200 प्रवक्ता एवं सहायक अध्यापकों को नियुक्ति पत्र प्रदान किया। पूरे प्रदेश में 2846 नव चयनित प्रवक्ता एवं सहायक अध्यापकों का नियुक्ति पत्र वितरित किया गया। जिसका लाईव प्रसारण जिला पंचायत मे देखा गया। जनपद मे  05 प्रवक्ता एवं 83 सहायक अध्यापकों को जिला पंचायत सभागार  में नियुक्ति पत्र प्रदान किया गया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने अपने सम्बोधन में कहा कि निष्पक्ष एवं पारदर्शी चयन प्रक्रिया अपनाकर योग्य लोगों को राजकीय माध्यमिक विद्यालयों में नियुक्ति प्रदान की गई है। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि नव चयनित प्रवक्ता एवं सहायक अध्यापक अपनी योग्यता एवं क्षमता के अनुसार नई पीढ़ी को शिक्षा प्रदान करेंगे। उन्होंने सभी नवनियुक्त प्रवक्ताओं एवं सहायक अध्यापकों को शुभकामनाएं व्यक्त किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में पिछले साढे 4 वर्षों में 4.30 लाख से अधिक युवाओं को सरकारी नौकरी दी गई है। राजकीय माध्यमिक विद्यालयों में यह तीसरी बार नियुक्ति पत्र वितरित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि निष्पक्ष एवं पारदर्शी प्रक्रिया अपनाकर योग्य लोगों को सेवा का अवसर प्रदान किया जा रहा है। नवनियुक्त सभी शिक्षकों का यह दायित्व है कि वे अपनी क्षमता का उपयोग छात्र-छात्राओं को शिक्षित करने में लगाएं। यदि वे ऐसा करते हैं तो प्रत्येक छात्र उनको आजीवन याद रखेगा। उन्होंने कहा कि आकांक्षात्मक जिलों में जिन अध्यापकों की तैनाती हो रही है उनका दायित्व और जिम्मेदारी काफी बढ़ जाती है। उन्होंने कहा कि नवनियुक्त शिक्षक अपनी जिम्मेदारियों को समझें, इनके हाथों में कई बालकों का भविष्य है, ये जागरूक बनकर शासन की योजनाओं की जानकारी अपने विद्यार्थियों को प्रदान कर सकते हैं, मुख्यमंत्री ने कहा कि एक शिक्षक को जिज्ञासु होना चाहिए, तभी वह नई-नई बातें सीख कर अपने विद्यार्थियों को भी सिखा सकता है, उन्होंने नवनियुक्त शिक्षकों को संदेश देते हुए कहा कि एक सुयोग्य शिक्षक बनकर आप अपने कार्यकाल को यादगार बना सकते है। इस अवसर पर उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने कहा कि अध्यापक समाज का भाग्य विधाता होता है। वह सौभाग्यशाली होता है, जो शिक्षक बनकर समाज को शिक्षित करता है। उसके अन्दर अनवरत विद्यार्थी का गुण बना रहना चाहिए। अध्यापक शिष्य के लिए सदैव आदर्श होता है। उन्होने नवनियुक्त शिक्षको को मंगल शुभकामना देते हुए बेहतर परिणाम देने की अपील की। वहॉ उपस्थित सभी के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया। इस अवसर पर जिला पंचायत सभागार मे जिला विद्यालय निरीक्षक ओ पी राय , एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे।