अब कोई भी परिषदीय विद्यालय अंग्रेजी माध्यम में संचालित नहीं होगा : बेसिक शिक्षा मंत्री

कानपुर। परिषदीय विद्यालयों के जो बच्चे ऑनलाइन पढ़ाई नहीं कर पा रहे हैं,वह अब एक सितंबर से स्कूल आकर पढ़ाई कर सकेंगे। विभाग का पूरा फोकस आँफलाइन पढ़ाई पर होगा। हालांकि,विभाग की ओर से ऑनलाइन पढ़ाई का विकल्प भी रहेगा। बुधवार को प्रदेश के बेसिक शिक्षा मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ सतीश चंद्र द्विवेदी ने यह बात बीएनएसडी शिक्षा निकेतन में कही। वह स्कूल में राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ की ओर से आयोजित गुरु वंदन कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए थे और पत्रकारों से बात कर रहे थे।

 हालांकि,जब उनसे पूछा गया कि जो बच्चे संसाधनों के अभाव में ऑनलाइन पढ़ाई से नहीं जुड़ पाते,उनके लिए क्या व्यवस्था है? इस सवाल के जवाब में उन्होंने कोई सटीक जवाब नहीं दिया। उन्होंने यह भी स्वीकारा कि बच्चों का एक बड़ा वर्ग संसाधनों के अभाव में ऑनलाइन पढ़ाई से वंचित रह जा रहा है। इसके अलावा बताया कि नई शिक्षा नीति का क्रियान्वयन होने के बाद से अब कोई भी परिषदीय विद्यालय अंग्रेजी माध्यम में संचालित नहीं होगा। उक्त कार्यक्रम में आठ शिक्षकों को उत्कृष्ट शिक्षक पुरस्कार से सम्मानित भी किया गया। 

बेसिक शिक्षा मंत्री ने बताया कि इस सत्र से नगर व ग्रामीण परिवेश के शिक्षकों के ट्रांसफर आसानी से हो सकेंगे। अभी तक जो विभागीय नियमों की परेशानियां थी उन्हेंं दूर कर लिया गया है। उन्होंने कहा कि,नगर क्षेत्र में शिक्षकों की कमी का हमेशा संकट रहता है। अब इस संकट से छुटकारा मिल जाएगा।