क्या प्रजनन क्षमता बढ़ाने में कारगर है अनानास, जानिए एक्सपर्ट्स की राय

मां बनना एक खूबसूरत अहसास होता है। मगर कई महिलाओं को अक्सर गर्भ धारण करने में कई मुश्किलें आती है। इसके पीछे का कारण गलत खानपान व लाइफस्टाइल हो सकता है। इससे परेशान होकर महिलाएं कई तरह की दवाओं का सेवन करने लगती है। वहीं प्रजनन क्षमता बढ़ाने के लिए पाइन एप्पल यानि अनानास खाना चाहिए या नहीं इसको लेकर महिलाओं के मन में कई सवाल रहते हैं। चलिए जानते हैं इसके बारे में क्या कहते हैं एक्सपर्ट्स...

अनानास में मौजूद पोषक तत्व

अनानास कम कैलोरी वाला फल है। अनानास के एक कप (165 ग्राम) में फैट 1.7 ग्राम, प्रोटीन 1 ग्राम, फाइबर 2.3 ग्राम, कार्बोहाइड्रेट्स 21.6 ग्राम, विटामिन 131 फीसदी, विटामिन बी6 9 फीसदी, कैलोरी 82.5, मैग्नीज 5 फीसदी और आयरन 3 फीसदी, कॉपर 9 फीसद, फोलेट 7 फीसद, पोटैशियम 5 फीसद आदि होता है।

क्या अनानास वास्तव में प्रजनन क्षमता को बढ़ाती है?

इसे आईवीएफ और बांझपन के साथ भी जोड़ा जाता है। एक्सपर्ट्स के अनुसार, अनानास के प्रजनन क्षमता बढ़ाने में मददगार है। दरअसल, इसमें पाइनकोन नामक तत्व होता है, जो फर्टिलिटी बढ़ाने में मदद करता है क्योंकि इसमें कुछ ऐसे एंजाइमों होते हैं, जो प्रजनन क्षमता को बढ़ावा देते हैं।

फर्टिलिटी में क्यों पायदेमंद अनानास?

अनानास में विटामिन्स, सैलेनियम, एंटी-ऑक्सीडेंट्स, ब्रोमेलैन नामक एंजाइम होता है लेकिन यह तत्व सिर्फ इसके रस से मिलता है। इसलिए कंसीव करने के लिए महिलाओं को इसे काटकर या इसका जूस पीने की सलाह दी जाती है।

कई बीमारियों में भी फायदेमंद है अनानास

इसका सेवन शरीर में दर्द, सूजन की समस्या से लड़ने में भी कारगार। इसमें मौजूद कैंसररोधी गुण ट्यूमर की कोशिकाओं को बढ़ने से रोकते हैं। इसके अलावा यह खून को पतला करके ब्लड क्लॉट बनने से भी रोकता है।

कैसे सेवन करना फायदेमंद?

बात अनानास के सेवन की करें कुछ लोग इसका जूस पीना पसंद करते हैं। वहीं, कई लोग इसे काटकर खाना फायदेमंद समझते हैं। बता दें कि स्टडी के अनुसार, इसमें मौजूद ब्रोमेलैन गर्भाशय में रक्त के प्रवाह को बढ़ाता हैं, जिससे फर्टिलिटी बढ़ती है। मगर, इसका जूस पीने खाने की बजाए काटकर खाने से अधिक मात्रा में ब्रोमेलैन मिलता है। वहीं, ओव्यूलेशन के समय इसका सेवन करने से कंसीव करने के चांसेंज बढ़ सकते हैं।

प्रजनन क्षमता बढ़ाने के लिए अनानस खाने के टिप्स

- हमेशा ताजे व सही अनानास खरीदें। इसे काटकर या जूस बनाकर पीएं।

- कभी भी डिब्बाबंद अनानास का सेवन ना करें। असल में, डिब्बाबंद अनानास ब्रोमेलैन एंजाइम को नष्ट कर देती है। ऐसे में इससे प्रजनन शक्ति धीमी पड़ सकती है इसलिए हमेशा ताजे अनानास ही खाएं।

- अगर आप खून पतला करने वाली दवा ले रही है तो अनानास खाने से बचें क्योंकि इसका सेवन खून को पतला करता है। ऐसे में आपकी परेशानी बढ़ सकती है।

- जो महिलाएं बांझपन के लिए कोई उपचार करवा रही हैं उन्हें अनानास का सेवन नहीं करना चाहिए। असल में, अनानास में फाइबर, चीनी व एसिड होते हैं, जिससे पेट संबंधी व अन्य समस्याएं हो सकती है।

- पाचन संबंधी समस्याएं है तो ओवुलेशन के बाद भी अनानास ना खाएं क्योंकि इससे आपकी समस्या बढ़ सकती है।

अनानास से गर्भधारण करने पर ज्यादा अध्ययन नहीं हुए है और ना ही भ्रूण स्थानांतरण परिणामों में कोई सहायता देखने को मिली है। ऐसे में इसका सेवन करने से पहले एक बार गायनोकॉलोजिस्ट से सलाह जरूर लें।