75वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर दिल्ली में हाई अलर्ट, आतंकी हमले के मिले इनपुट , सुरक्षाकर्मी चौकस

दिल्ली : 75वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर दिल्ली से जम्मू-कश्मीर तक आतंकी हमले के इनपुट मिले हैं। खुफिया विभाग ने दिल्ली पुलिस को इनपुट दिए हैं और खालिस्तान समर्थकों के इरादे साफ किए हैं। खालिस्तानी समर्थक 15 अगस्त वाले दिन या उससे पहले दिल्ली व पंजाब में ऐतिहासिक इमारतों समेत अन्य जगहों पर खालिस्तानी झंडा फहरा सकते हैं या फिर कोई और गड़बड़ी फैला सकते हैं। इसे देखते हुए राजधानी में सुरक्षा चाक-चौबंद कर दी गई है। जगह-जगह तलाशी अभियान सघन कर दिया गया है। 

देश के खिलाफ विभाग ने शुक्रवार को दिल्ली पुलिस को ये इनपुट दिए हैं। इन इनपुट के लेकर खुफिया विभाग अलर्ट हो गया है। दिल्ली पुलिस ने दिल्ली में सुरक्षा को और कड़ा कर दिया गया है। दिल्ली पुलिस के सीनियर पुलिस अधिकारी जूनियर अधिकारियों को ब्रीफिंग के दौरान खालिस्तानी इनपुट के बारे में जानकारी देने दे रहे हैं।

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि खुफिया विभाग ने शुक्रवार सुबह इनपुट दिए हैं कि खालिस्तान किसानों को भड़का कर कहीं भी उग्र प्रदर्शन कर सकते हैं। इस दौरान खालिस्तान समर्थक ऐतिहासिक इमारत या फिर गुरुद्वारे समेत धार्मिक स्थलों पर अपना झंडा पहरा सकते हैं। 

खुफिया अलर्ट में कहा गया है कि खालिस्तान 14 अगस्त की रात 12 बजे से लेकर 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम के दौरान या फिर स्वतंत्रता दिवस के कार्यक्रम के बाद झंडा फहराने के साथ किसी भी तरह की गड़बड़ी फैला सकते हैं। 15 अगस्त वाले दिन लाल किले पर कार्यक्रम होने के बाद भी खालिस्तान समर्थक गड़बड़ी या फिर कहीं भी झंडा फहरा सकते हैं। लाल किले पर कार्यक्रम होने के बाद दिल्ली में सुरक्षा व्यवस्था ढीली हो जाती है। 

गौरतलब है कि 26 जनवरी को किसानों के एक समूह ने लाल किले की प्राचीर पर धार्मिक झंडा फहरा कर देश का अपमान कर चुके है। झंडा फहरा कर खालिस्तानी समर्थक मीडिया को सूचना देकर मौके पर भी बुलाएंगे। स्पेशल सेल के इस पुलिस अधिकारी ने बताया कि खालिस्तानी समर्थक गुब्बारे उड़ाकर भी गड़बड़ी फैला सकते हैं। गुब्बारे एक या काफी मात्रा में हो सकते हैं। 

खालिस्तानियों के खुफिया अलर्ट को लेकर दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों को ब्रीफिंग कर रहे हैं। आतंकी हमले के इनपुट्स के बीच खालिस्तानी समर्थकों को लेकर मिले खुफिया अलर्ट को दिल्ली पुलिस अलर्ट हो गई है। दिल्ली पुलिस ने अपने खुफिया विभाग स्पेशल ब्रांच को अलर्ट कर दिया है। ऐतिहासिक व धार्मिक जगहों पर सादा वर्दी में पुलिसकर्मी तैनात किए जा रहे हैं। दिल्ली पुलिस में 15 अगस्त को देखते हुए गुब्बारे व ड्रोन उड़ाने पर प्रतिबंध हैं और पूरी दिल्ली में धारा 144 लगी हुई है। 

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने स्वतंत्रता दिवस से पहले अलग-अलग से चार हथियार तस्करों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से बड़ी संख्या में हथियार बरामद किए हैं। आरोपियों के कब्जे से दो स्वचालित पिस्टल समेत 55 पिस्टल, 50 कारतूस, बैगन आर कारतूस और मोटरसाइकिल बरामद की है। एक आरोपी को फिरौती के लिए अपहरण के मामले में उम्रकैद की सजा हो रखी है। वह पैरोल पर बाहर आया हुआ था।

स्पेशल सेल डीसीपी संजीव कुमार यादव के अनुसार स्वतंत्रता दिवस को देखते हुए गन हाउस चलाने वालों पर विशेष नजर रखी हुई थी। जांच में ये बात सामने आ रही थी कि मध्यप्रदेश से दिल्ली व यूपी समेत अन्य जगहों पर अवैध हथियार आ रहे हैं। इसके तहत एसीपी जसबीर सिंह की देखरेख में इंस्पेक्टर कृष्ण कादियान यूपी बेस अवैध हथियार तस्कर गांव करील जातोई हाथरस, यूपी निवासी राजवीर(33) व गांव करील मुरसान हाथरस, यूपी निवासी धीरज(25) को सात अगस्त को उस समय पकड़ लिया जब वह बुराड़ी फ्लाईओवर के पास अवैध हथियारों की खेप लेकर आए थे।

राजवीर के कब्जे से 16 व धीरज के कब्जे से 9 अवैध पिस्टल बरामद की गईं। ये वैगर आर कार में आए थे। इंस्पेक्टर पीसी यादव व संदीप यादव की टीम ने फिरोजपुर, यूपी बेस अवैध हथियार तस्कर  गांव मुबारकपुर, थाना नसीरपुर, फिरोजबाद यूपी निवासी विनोद उर्फ भोला(48) को नजफगढ़-धासना रोड से नौ अगस्त को गिरफ्तार किया। इसके कब्जे से 20 कारतूस समेत दो स्वचालित पिस्टल व आठ बढिय़ा क्वालिटी वाले देशी कट्टे बरामद किए गए। 

विनोद न्यू अशोक नगर में फिरौती के लिए अपहरण मामले में शामिल था। इसने मथुरा निवासी साथी अशोक व फिरोजाबाद निवासी प्रेमचंद के साथ स्थानीय बदमाश न्यू अशोक निवासी अजय का अपहरण कर लिया था और 20 लाख रुपये की फिरौती मांगी थी। इस मामले में विनोद को उम्रकैद की सजा हो रखी है और इस समय पेरोल पर जेल से बाहर आया हुआ था। इंस्पेक्टर मानसिंह व अनुज कुमार की टीम ने कौशल गिरोह के बदमाश धर्मेन्द उर्फ धरमू को द्वारका से 13 अगस्त को गिरफ्तार किया है। ये मेवात व पश्चिमी यूपी से अवैध हथियार लाकर अपने गिरोह के सदस्यों को अवैध हथियार सप्लाई कर रहा था। इसके कब्जे से 20 पिस्टल, तीस कारतूस व मोटरसाइकिल बरामद की गई।

पेशे से ट्रक ड्राइवर राजवीर की लॉकडाउन के कारण ड्राइवरी की नौकरी चली गई थी। ऐसे में वह गांव के ही एक अवैध हथियार तस्कर के संपर्क में आया। अवैध हथियारों की  तस्करी के लिए उसने वैगन आर कार खरीदी थी। ये मध्यप्रदेश से अवैध हथियार लाकर दिल्ली, हरियाणा व यूपी में सप्लाई करता था। वह हथियार लाने के लिए एक ट्रिप के आठ से दस हजार  ुपये लेता था। ये भी लॉकडाउन के कारण अवैध हथियार तस्कर बना था। विनोद पांच-छह महीने से अवैध हथियार सप्लाई कर रहा है। विनोद के खिलाफ पहले से 12 से अधिक मामले दर्ज हैं।