कतर्नियाघाट वन क्षेत्रों के निकटवर्ती 4 गांव की निगरानी समितियॉ कोविड मेडिकल किट का करेंगी उपयोग

बहराइच । कतर्नियाघाट वन्यजीव प्रभाग के प्रभागीय वनाधिकारी आकाशदीप बधावन ने विश्व प्रकृति निधि (डब्लू.डब्लू.एफ. इण्डिया) के वरिष्ठ परियोजना अधिकारी दबीर हसन तथा कतर्नियाघाट वन्य जीव विहार के सीमावर्ती ग्राम पंचायतों आम्बा, फकीरपुरी, कारीकोट एवं मटेही की निगरानी समिति के पदाधिकारियों व ग्राम प्रधानों के साथ कलेक्ट्रेट स्थित कार्यालय में जिलाधिकारी डॉ. दिनेश चन्द्र से भेंट कर उन्हें 15 सेट मेडिकल किट भेंट किये। डब्लू.डब्लू.एफ. इण्डिया की ओर से भेंट की गयी मेडिकल किट में पल्स ऑक्सीमीटर, थर्मल स्कैनर, मास्क, हैंड ग्लव्स, सैनिटाइजर, पीपीई किट, मल्टीविटामिन सहित अन्य जरूरी जीवन रक्षक दवाएं शामिल हैं।

जिलाधिकारी डॉ. चन्द्र ने डब्लू.डब्लू.एफ. द्वारा सौपी गयी मेडिकल किट को सम्बन्धित ग्राम पंचायतों के ग्राम प्रधान एवं निगरानी समिति के अध्यक्षों को सौंपते हुए कहा कि लॉजिस्टिक से सुसज्जित होकर निगरानी समितियॉ और बेहतर ढंग से अपने उत्तरदायित्वों का निर्वहन कर सकेंगी। जिलाधिकारी ने जनपद में हुए कोविड प्रबन्धन कार्य की सराहना करते हुए निगरानी समिति के सदस्यों एवं ग्राम प्रधानों का आहवान किया कि अभी कोरोना का खतरा टला नहीं है। हमें अभी भी पूरी कड़ाई के साथ मॉस्क वियरिंग एवं सोशल डिस्टेंसिंग तथा हाथों की नियमित सुरक्षा जैसे सुरक्षात्मक प्रोटोकॉल का पूरी कड़ाई के साथ पॉलन करना होगा। उन्होंने समिति के सदस्यों का आहवान किया कि अपने क्षेत्रों में निगरानी बनाये रखे तथा लोगों को टीकाकरण के लिए प्रेरित करें। डॉ. चन्द्र ने मौजूद ग्राम प्रधानों तथा निगरानी समिति के पदाधिकारियों से वनों एवं वन्यजीवों की सुरक्षा एवं संरक्षण में भी सक्रिय सहयोग प्रदान करने की अपेक्षा की। 

डी.एफ.ओ. कतर्नियाघाट श्री बधावन ने जिलाधिकारी को बताया कि कतर्नियाघाट वन्यजीव विहार क्षेत्र में स्थित गांवों में वनों एंव वन्यजीवों के संरक्षण हेतु ईको विकास समितियाँ संचालित हो रही हैं। जिनके द्वारा वनों एवं वन्यजीवों के संरक्षण में महती भूमिका है। ऐसे में हमारा कर्तव्य है कि वन सीमावर्ती गॉवों के नागरिकों को कोरोना जैसी महामारी से बचाव हेतु जागरूक करने में वन विभाग भी सहयोग करें। डीएफओ ने कोविड मेडिकल किट उपलब्ध कराने हेतु विश्व प्रकृति निधि (डब्लू.डब्लू.एफ. इण्डिया) का आभार ज्ञापित करते हुए आश्वसत किया कि भविष्य में वन क्षेत्र में स्थित अन्य गॉवों को सहयोग प्रदान किया जायेगा। 

इस अवसर पर जिलाधिकारी डॉ. दिनेश चन्द्र ने ग्राम पंचायत कारीकोट के ग्राम प्रधान प्रतिनिधि केशव राम चैहान एवं इको विकास समिति के अध्यक्ष गंगा राम, मटेही के ग्राम प्रधान अनिल कुमार एवं ईको विकास समिति के अध्यक्ष हरिकेश चैबे तथा ग्राम पंचायत आम्बा के ग्राम प्रधान व ईको विकास समिति के अध्यक्ष इकरार अहमद को डब्लू.डब्लू.एफ. द्वारा सौपी गयी कोविड सपोर्ट मेडिकल किट का वितरण किया तथा विश्व प्रकृति निधि का भी आभार व्यक्त किया।