3rd Test में सिलेक्शन के लिए उपलब्ध होंगे शॉ और सूर्यकुमार, क्या इन्हे प्लेइंग इलेवन में खेलने का मौका मिल पाएगा?

भारत और इंग्लैंड के बीच पांच मैचों की टेस्ट सीरीज का तीसरा मैच 25 अगस्त से लीड्स के हेडिंग्ले ग्राउंड पर खेला जाना है। टीम इंडिया से पृथ्वी शॉ और सूर्यकुमार यादव जुड़ चुके हैं और तीसरे टेस्ट में प्लेइंग इलेवन में सिलेक्शन के लिए उपलब्ध रहेंगे। अब सबसे बड़ा सवाल यह खड़ा होता है कि क्या इन दोनों को प्लेइंग इलेवन में खेलने का मौका मिल पाएगा? चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे लंबे समय से खराब फॉर्म में चल रहे थे, लेकिन लॉर्ड्स टेस्ट की दूसरी पारी में दोनों ने फॉर्म में वापसी के संकेत दिए हैं, तो क्या ऐसे में टीम मैनेजमेंट इन दोनों को या फिर दोनों में से किसी एक को ड्रॉप करने के बारे में विचार करेगा? यह बड़ा सवाल बना हुआ है।

पृथ्वी शॉ और सूर्यकुमार दोनों को श्रीलंका से सीधा इंग्लैंड बुलाया गया है। दोनों ने श्रीलंका में वनडे और टी20 इंटरनेशनल सीरीज में हिस्सा लिया था। शुभमन गिल, वॉशिंगटन सुंदर के चोटिल होकर सीरीज से आउट होने के बाद इन दोनों को बैक-अप खिलाड़ियों के तौर पर टीम में शामिल किया गया। ऐसा माना जा रहा था कि पृथ्वी को शुभमन की जगह पारी का आगाज कराया जा सकता है, लेकिन पहले दो टेस्ट मैचों में केएल राहुल ने सलामी बल्लेबाज के तौर पर जिस तरह से रोहित शर्मा का साथ दिया है, ऐसे में शॉ का प्लेइंग इलेवन में शामिल होना लगभग तय सा नजर आता है। शॉ को इस दौरे पर बचे हुए तीन टेस्ट मैचों में खेलने का शायद ही मौका मिल पाए। रोहित या राहुल में से अगर कोई चोटिल होता है, तो शायद शॉ को प्लेइंग इलेवन में खेलते हुए देखा जा सकता है।

सूर्यकुमार यादव ने अपनी शानदार बल्लेबाजी से लिमिटेड ओवर क्रिकेट में तो जगह मजबूत कर ली है, लेकिन अभी तक उन्हें टेस्ट क्रिकेट खेलने का मौका नहीं मिला है। चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे की खराब फॉर्म के सूर्यकुमार के लिए प्लेइंग इलेवन का रास्ता भले ही पृथ्वी शॉ जितना मुश्किल नहीं है, लेकिन बहुत आसान भी नहीं होगा। पुजारा और रहाणे दोनों ने लॉर्ड्स टेस्ट की दूसरी पारी में फॉर्म में वापसी के संकेत दिए हैं, ऐसे में टीम मैनेजमेंट दोनों को या दोनों में से किसी एक को बाहर करने का रिस्क लेना चाहेगा या नहीं इस पर तरह तरह की चर्चा हो रही है। कुछ पू्र्व क्रिकेटरों का मानना है कि सूर्यकुमार यादव को लीड्स में प्लेइंग इलेवन में पुजारा या रहाणे की जगह मौका दिया जाना चाहिए। यहां सूर्यकुमार यादव के लिए सबसे बड़ी मुश्किल यह होगी कि उन्हें इंग्लैंड की पिचों पर खेलने का अनुभव नहीं है, लेकिन एक बात और यह है कि कप्तान विराट कोहली प्लेइंग इलेवन को लेकर रिस्क लेने से पीछे हटने वाले नहीं हैं, ऐसे में वह शायद सूर्यकुमार को लीड्स टेस्ट में प्लेइंग इलेवन में शामिल कर लें।