एसिडिटी से निजात पाने के लिए इन घरेलू उपचारों का करे इस्तेमाल, मिलेगा इंस्टेंट रिलीफ

अकसर कई बार गलत खाने पीने से पेट की समस्या होने लगती हैं, जिसमें से ज्यादातर लोगों को सीने में जलन, गैस, खट्टी डकार और पेट में दर्द जैसी दिक्कत होती हैं, वहीं समस्या से इससे निजात पाने के लिए लोग तरह-तरह की दवाओं और घेरलू नुस्खों का उपयोग करते हैं। हालांकि इन उपचारों से इंस्टेंट रिलीफ तो मिल तो जाता है लेकिन इनके साइड इफेक्ट्स का खतरा बना रहता है। एसिडिटी जैसी समस्या से राहत पाने के लिए हम कुछ ऐसे टिप्स आपकों बताने जा रहे हैं जिन्हें फाॅलो कर इंस्टेंट रिलीफ भी पा सकते हैं औ साथ ही किसी तरह के साइड इफेक्ट्स का खतरा भी नहीं रहेगा। आईए जानते हैं एसिडिटी  को दूर करने के लिए घरेलू उपचारों के बारे में- 

गुड़

एसिडिटी की दिक्कत है तो इससे निजात पाने के लिए गुड़ बेहद कमाल की चीज है। इसके लिए आप खाने के बाद गुड़ का सेवन कर सकते हैं या फिर इसको पानी में उबालकर भी इस पानी का सेवन कर सकते हैं। गुड़ में काफी मात्रा में प्रोटीन, विटामिन, मिनरल, आयरन, पोटैशियम और कॉपर जैसे गुण होते हैं। जो  एसिडिटी की दिक्कत को दूर करने में मदद करते हैं। बतां दें कि  गुड़ पेट में म्यूकस का उत्पादन करता है। म्यूकस पेट में मौजूद एक चिकनी परत होती है जो पेट के बाहरी और अंदरूनी परत को पेप्सिन और हाइड्रोक्लोरिक एसिड के प्रभाव से सेफ रखती है। 

दालचीनी 

दालचीनी की चाय एसिडिटी को दूर करने के लिए बेहद उपयोगी है। इसके इस्तेमाल के लिए आप एक गिलास पानी में आधा चम्मच दालचीनी पाउडर मिलाकर अच्छी तरह उबाल लें, अगर आप चाहें तो मिठास के लिए इसमें थोड़ा सा गुड़ भी मिला सकते है, और इस चाय का सेवन कर सकते हैं। ये आपको एसिडिटी से इंस्टेंट रिलीफ देगी।

अजवाइन

अजवाइन एसिडिटी की दिक्कत को दूर करने के लिए बेहद कारगार है। इसके सेवन करने से आपको इंस्टेंट रिलीफ मिलेगा इसके साथ ही  सीने में जलन, खट्टी डकार, गैस और पेट दर्द से राहत देने के साथ ही हाजमे को ठीक रखने में भी आपकी मदद करेगी। इसके इस्तेमाल के लिए आप एक चम्मच अजवाइन को पीसकर इसका सेवन कर सकते हैं, इसके अलावा अजवाइन को भूनकर भी इसका सेवन कर सकते हैं या फिर पानी में उबालकर भी इस पानी को पी सकते हैं।

एसिडिटी होने पर क्या खाएं

एसिडिटी होने पर आप में इन आहार का सेवन कर सकते जैसे कि- 

अनाजरू ऐसे अनाज का प्रयोग जो फाइबर युक्त हो शाली चावल, गेहूं, जौ

दालरू मूंग दाल

फल एवं सब्जियांरू लौकी, तोरई, परवल, करेला, कददू, मौसम के अनुसार हरी सब्जियाँ, पेठा, कुम्हड़ा (ूीपजम हवनतक) कूष्माण्ड, पपीता, सेब, पके केले।

एसिडिटी में क्या ना खाएं 

एसिडिटी होने पर इन आहार का सेवन भूल कर भी न करे नहीं तो समस्या अधिक बढ़ सकती है-

अनाजरू नया धान, बेसन

दालरू कुलथ और उड़द

फल एवं सब्जियांरू आलू तथा अन्य कन्द मूल, लीसोरा, बैंगन, खट्टे फलदृ नारंगी, अंगूर, नीम्बू।

इसके अलावा आप तीखा, मसाले दार भोजन, खट्टा सिरका, चाय, कॉफी, धूम्रपान, फास्ट फूड, आचार, मक्खन, कोल्ड ड्रिंक्स, डब्बे में बंद भोजन, जंक फूड, अनुपयुक्त समय में भोजन, मांसहार, शराब, पनीर से परहेज करे।

posted by - दीपिका पाठक