पूर्व क्रिकेटर दीप दासगुप्ता : विराट काफी शांत, मृदुभाषी और बहुत अच्छा बोलने वाले व्यक्ति हैं लेकिन...

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली भावनाओं से भरे व्यक्ति हैं और भारतीय फैन्स इस बात को अच्छी तरह जानते हैं। वे जब भी मैदान में उतरते हैं, उनका एनर्जी लेवल हमेशा एक अलग स्तर पर होता है। विकेट का जश्न हो या कैच लेने की खुशी, कोहली के हावभाव हमेशा टीम में नई जान फूंकने का काम करते हैं, जिससे टीम को अक्सर फायदा ही होता है। हालांकि उनके इस रवैये पर भारत के पूर्व क्रिकेटर दीप दासगुप्ता मानते हैं कि विराट को मैदान पर अपने इशारों को लेकर थोड़ा और सावधान रहने की जरूरत है।

यूट्यूब पर लाइव सेशन के दौरान दीप दासगुप्ता से वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप के फाइनल मैच के दौरान फैन्स के लिए विराट के इशारों के बारे में पूछा गया। इस पर पूर्व क्रिकेटर ने कहा कि, 'मैं वहां मौजूद नहीं था, इसलिए स्पष्ट रूप से मुझे इसके बारे में नहीं पता है। लेकिन विराट के साथ यह है कि व्यक्तिगत रूप से वे जिस तरह से पेश आते हैं, उससे उन्हें खुद को प्रेरित करने में मदद मिलती है। यदि आप उनसे मैदान के बाहर मिलते हैं, तो वे सबसे शांत लोगों में से एक हैं, जिनसे आप मिले होंगे।

दीप दासगुप्ता ने आगे कहा कि, विराट काफी शांत, मृदुभाषी और बहुत अच्छा बोलने वाले व्यक्ति हैं। लेकिन एक बार जब वह मैदान पर कदम रखते हैं तो उनका नजरिया एकदम बदल जाता है। मुझे लगता है कि यह उनका खुद को प्रेरित करने का तरीका है और अगर इससे टीम की भलाई हो रही है, तो इसमें मुझे कोई दिक्कत नजर नहीं आती है। आखिरकर, हमें तो उनसे रनों की ही जरूरत है। वे कैसे रन बनाते हैं, कैसे वे भारत के लिए मैच जीतते हैं, यह हमें उन पर छोड़ देना चाहिए।'