यूपी के मुरादाबाद में रोड शो करने पहुंचे असदुद्दीन ओवैसी ने कोरोना से हुई मौतों को लेकर पीएम मोदी पर किया तंज

नई दिल्ली: AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी गुरुवार को यूपी के मुरादाबाद में रोड शो करने पहुंचे, जहां लोगों की भारी भीड़ ने उनका स्वागत किया.आज ओवैसी ने  एक वीडियो शेयर किया है, जिसमें पीएम मोदी द्वारा वाराणसी में की गई सीएम योगी आदित्यनाथ की तारीफ को  लेकर कटाक्ष किया. उन्होंने कहा कि ये बड़े दुख की बात है, ताज्जुब भी हुआ कि देश के पीएम यूपी के लोगों के दुख, तकलीफ और बेबसी से इतना डिसकनेक्ट हैं कि हकीकत का इकरार नहीं किया.  अपने नाकामी को कि यूपी और केंद्र सरकार कोरोना की दूसरी लहर में जनता की जान बचाने में नाकाम रहे, दो से तीन लाख लोगों की मौतें हो गईं. नदियों में लाशें तैर रही थीं, शवों को कुत्ते नोच खा करहे थे. पीएम ये भूल चुके हैं कि ये लाशें किसी के माता-पिता, भाई-बहन, पति-पत्नी या दोस्तों की थी. पीएम ने कल इन परिवारों के जख्मों पर नमक छिड़कने का काम किया है.

बता दें कि पीएम मोदी ने गुरुवार को वाराणसी में कहा कि कोरोना के खिलाफ यूपी की लड़ाई अभूतपूर्व रही. कोरोना के खतरनाक स्वरूप ने पूरी ताकत से हमला किया, लेकिन यूपी ने पूरे समार्थ्य से इस संकट का मुकाबला किया. मुश्किल समय में भी काशी ने दिखा दिया कि वह रुकनी नहीं है, थकती नहीं है. पिछले कुछ महीने पूरी मानवजाति के लिए मुश्किल भरे रहे. 

पीएम ने ये भी कहा कि कोरोना के खिलाफ काशी प्रशासन ने दिन रात कड़ी मेहनत करके स्वास्थ्य सेवाएं खड़ी कीं. इन्हीं प्रयासों का नतीजा है कि यूपी कोरोना की सबसे ज्यादा जांच करने वाला राज्य है. पूरे देश में सबसे ज्यादा टीकाकरण करने वाला राज्य भी यूपी ही है. चार साल पहले तक यूपी में सिर्फ दर्जनभर मेडिकल कॉलेज हुआ करते थे. उनकी संख्या भी करीब चार गुना बढ़ चुकी है. यूपी में 550 से अधिक ऑक्सीजन संयंत्र बनाने का काम भी तेजी से चल रहा है. ऑक्सीजन और आईसीयू जैसी सुविधाएं निर्मित करने का जो बीड़ा यूपी सरकार ने उठाया वो सराहनीय है.

उन्होंने कहा, ‘‘चार साल पहले तक जहां उत्तर प्रदेश में दर्जनभर मेडिकल कॉलेज हुआ करते थे, उनकी संख्या आज करीब करीब चार गुना हो चुकी है. बहुत सारे चिकित्सा कॉलेजों का निर्माण अपने अलग-अलग चरणों में है. अभी उत्तर प्रदेश में करीब 550 से अधिक ऑक्सीजन संयंत्र बनाने का काम भी तेजी से चल रहा है.'' उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन और आईसीयू जैसी सुविधाएं निर्मित करने का जो बीड़ा उत्तर प्रदेश सरकार ने उठाया है वह सराहनीय है.

पीएम मोदी ने ये भी कहा कि ऐसा नहीं है कि 2017 से पहले यूपी में योजनाएं नहीं आती थीं या दिल्ली से पैसा नहीं भेजा जाता था. 2014 में हमारी सरकार आने के बाद से इतनी तेजी से ही प्रयास होते थे, लेकिन उस समय लखनऊ से रोड़ा अटक जाता था. योगी जी खुद ऊर्जा लगाकर विकास के कामों को गति देते हैं. हरेक काम के साथ खुद लगते हैं. यही वजह है कि यूपी में बदलाव हो रहा है.