शरीर में खून की कमी है तो दवाइयां नहीं खाएं ये चीजें, हफ्ते में पूरा हो जाएगा

स्वस्थ रहने के लिए शरीर में खून की सही मात्रा होना बहुत जरूरी है। सही डाइट ना लेने, आयरन की कमी और कुछ हैल्थ प्रॉब्लम्स के चलते शरीर में खून की कमी हो जाती है, जिसे एनीमिया कहते हैं। पुरुषों के मुकाबले महिलाओं में खून की कमी अधिक देखने को मिलती है। स्टडी के मुताबिक, 70% महिलाएं इस समस्या की शिकार हैं जबकि 57.8% गर्भवती महिलाओं को भी एनीमिया हो जाता है। यूनिसेफ के मुताबिक, भारत 15-19 साल की 56%  लड़कियां और 30% लड़के एनीमिया के शिकार हैं। पुरुषों में सामान्य हीमोग्लोबिन 13.5 से 17.5 ग्राम और महिलाओं में 12.0 से 15.5 ग्राम प्रति डीएल होता है, जबकि गर्भवती महिलाओं में यह 11 से 12 के बीच ही रहता है। अगर से स्तर 7 से 9 ग्राम हो तो ये माइल्ड एनीमिया होता है।

एनीमिया होता क्या है?

बॉडी सेल्स को एक्टिव रखने के लिए ऑक्सीजन की जरूरत होती है जिसे हीमोग्लोबिन शरीर के बाकी अंगो तक पहुंचाता है। मगर, जब खून की कमी से सेल्स को ऑक्सीजन नहीं मिलती तो वो कार्ब्स व वसा को जलाकर ऊर्जा में नहीं बदल पाती। इससे बॉडी व ब्रेन फंक्शन में रुकावट आती है, जिसे एनीमिया कहते हैं।

महिलाओं में एनीमिया के कारण

महिलाओं में एनीमिया होने का सबसे बड़ा कारण गलत खान-पान है। वहीं पीरियड्स के दौरान हैवी ब्लीडिंग और प्रेगनेंसी में ज्यादा खून बहने के चलते यह समस्या हो जाती है। इसके अलावा आयरन व फॉलिक एसिड की कमी, पेट में इंफेक्शन, अधिक कैल्शियम, किसी चोट और बार-बार कंसीव करने वाली महिलाओं को यह समस्या हो सकती है।

महिलाओं में एनीमिया के लक्षण

. शारीरिक थकान

. चेहरे व पैरों पर सूजन

. चक्कर , बेहोशी, सुस्ती

. लगातार सिरदर्द

. शरीर का ठंडा रहना

. आंखों के आगे अंधेरा छाना

. जीभ, नाखून व पलकों पर पीलापन

. सांस फूलना व धड़कन तेज होना

. अधिक बाल झड़ना

शरीर में खून की कमी को पूरा करने के लिए अक्सर डॉक्टर आयरन व फोलिक एसिड की गोलियां थमा देते हैं लेकिन आप डाइट में कुछ चीजें शामिल करके भी एनीमिया से निजात पा सकते हैं।

डाइट में लें हैल्दी फूड्स

आयरन भरपूर चीजें जैसे पालक, टोफू, मसूर की दाल, बेरीज, खजूर, अंजीर, बादाम, अखरोट, तिल, कद्दू और अलसी के बीज आदि खाएं। यह रक्त कोशिकाओं में ऑक्सीजन को इकट्ठा करके हीमोग्लोबिन बनाने में मदद करता है।

जूस पीएं

शरीर में खून की कमी पूरी करने के लिए हरी पत्तेदार सब्जियां, अनार, पालक, टमाटर, चुकंदर, आंवला, गिलोय का जूस पीएं।

विटामिन सी फूड्स

विटामिन सी युक्त आहार जैसे खट्टे फल, संतरा, नींबू, ब्रोकोली, अंजीर, सूखे मेवे,  फल, साबुत अनाज आदि खाएं।

योग व एक्सरसाइज भी है जरूरी

फिजिकल एक्टिविटी के जरिए भी लाल रक्त कोशिकाएं बढ़ाने में मदद मिलती है। इसके लिए आप योग , मेडिटेशन, प्राणायाम, एरोबिक्स एक्सरसाइज आदि करें।

ब्लड टेस्ट जरूरी

समय समय पर ब्लड टेस्ट करवाएं ताकि सही जानकारी सही समय पर आपको पता चल जाए।

posted by - दीपिका पाठक