क्या सच है

बंदूक की ताकत पर चुनाव में जाना घातक।

तेलों के बढ़ते दाम ,मंहगाई खाये जात आम।

गॉँव वालो गब्बर आला रे -हे राम

अनिल त्रिपाठी