ओलंपिक गेम्स के दौरान टोक्यो में लागू रहेगा आपातकाल

जापान सरकार ने गुरुवार को घोषणा करते हुए कहा कि ओलंपिक के दौरान पूरे टोक्यो में कोरोना आपातकाल लगाने का फैसला किया गया है। रिपोर्ट के मुताबिक, आयोजक खेल के दौरान मैदान पर  दर्शकों के प्रवेश पर भी रोक लगा सकते हैं। जापान के प्रधानमंत्री योशीहिदे सुगा ने घोषणा करते हुए कहा, हम टोक्यो में आपातकाल लागू करेंगे। यह आपातकाल 22 अगस्त तक लागू रहेगा। यह घोषणा ऐसे समय में हुई है जब अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति के अध्यक्ष थॉमस बाक बृहस्पतिवार को टोक्यो पहुंच गए।

सुगा ने कहा कि सोमवार से आपात स्थिति प्रभाव में आ जाएगी और 22 अगस्त तक रहेगी। इसका मतलब हुआ कि 23 जुलाई से शुरू होकर आठ अगस्त तक चलने वाले ओलंपिक का आयोजन पूरी तरह आपातकालीन कदमों के साथ होगा। उन्होंने कहा कि देश में भविष्य में संक्रमण के मामले फिर से न बढ़ें, इसके लिए आपात स्थिति लागू करना जरूरी है।

इससे पहले टोक्यो के हानेदा हवाईअड्डे पर कैमरों सें बचते हुए बाक आईओसी के मुख्यालय पहुंचे जो शहर के बीचोबीच स्थित पांच सितारा होटल में बनाया गया है। बताया जाता है कि उन्हें तीन दिन के लिए पृथकवास में रहना होगा।आईओसी और स्थानीय आयोजक जापान की जनता और चिकित्सा बिरादरी के बावजूद महामारी के दौरान खेलों के आयोजन का प्रयास कर रहे हैं।

ओलंपिक आयोजनकर्ता खेलों के दौरान मैदान पर दर्शकों के प्रवेश पर रोक लगा सकते हैं। जापान कोरोना संक्रमण की नई लहर को रोकने और ओलंपिक आयोजन को ध्यान में रखते हुए प्रधानमंत्री ने आपातकाल लागू करने की घोषणा की है। कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए विशेषज्ञों के साथ हुई बैठक में सरकारी अधिकारियों ने आगमी सोमवार से लेकर 22 अगस्त तक इमरजेंसी लागू करने का प्रस्ताव रखा गया था। 

मेडिकल विशेषज्ञ कुछ सप्ताह पहले ही कह चुके हैं कि अगर खेलों में दर्शक नहीं होंगे तो यह सबसे कम जोखिम भरा विकल्प होगा। हजारों एथलीटों और अधिकारियों के आने से  संक्रमण की एक नई लहर को बढ़ावा मिलेगा। आयोजकों ने पहले ही ओलंपिक में विदेशी दर्शकों के आने पर प्रतिबंध लगा दिया है। वहीं घरेलू दर्शकों के लिए 50 प्रतिशत क्षमता के साथ 10 हजार दर्शकों की सीमा निर्धारित की। पहले ऐसा कहा जा रहा था कि टोक्यो के लोगों को खेल देखने के लिए मैदान पर जाने की इजाजात मिलेगी। लेकिन छह सप्ताह का आपातकाल लागू होने के बाद यह संभावना भी खत्म हो जाएगी। 

टोक्यो में इस समय कोरोना से जुड़े कड़े नियम लागू नहीं है। इसलिए टोक्यों में लगातारर कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या में इजाफा हो रहा है। बार और रेस्त्रां के खुलने का समय घटाने से भी कोरोना संक्रमण पर कोई खास असर नहीं पड़ा। कोरोना महामारी शुरू होने के बाद से यह जापान ने चौथा आपातकाल होगा। बीते बुधवार को टोक्यो में 920 नए मामले आए थे।