एण्डटीवी के ‘घर एक मंदिर- कृपा अग्रसेन महाराज की‘ में साई बल्लाल निभायेंगे कुन्दन अग्रवाल का किरदार

टेलीविजन के मशहूर अभिनेता साई बल्लाल ने इंडस्ट्री में दो दशक से भी ज्यादा समय गुजारा है। एक से बढ़कर एक कई महत्वपूर्ण भूमिकायें निभाने के बाद साई अब एण्डटीवी के आगामी सोशल-ड्रामा ‘घर एक मंदिर-कृपा अग्रसेन महाराज की‘ में कुन्दन अग्रवाल का किरदार अदा करते नजर आयेंगे। खलनायक भूमिकाओं की अपनी अनूठी अदायगी से साई बल्लाल ने इंडस्ट्री में अपनी एक अलग पहचान बनाई है। इस नई भूमिका के साथ साई अपने दर्शकों के दिलों-दिमाग में एक ऐसी छाप छोड़ना चाहते हैं, जो लंबे समय तक बनी रहेगी। ज़ी स्टूडियोज द्वारा निर्मित यह एक अनूठा सोशल-ड्रामा है, जिसे पहली बार भारतीय टेलीविजन पर दिखाया जा रहा है। यह शो महान राजा अग्रसेन महाराज पर आधारित है। अग्रसेन महाराज व्यापारियों के अग्रवाल समुदाय के संस्थापक थे और उन्होंने अपने सिद्धांतों एवं ज्ञान के जरिये समुदाय को फलने-फूलने में मदद की। 

 कुन्दन अग्रवाल की महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के बारे में बताते हुये साई बल्लाल ने कहा, ‘‘जबसे इस शो की घोषणा की गई है, तभी से ही दर्शकों का रोमांच और बेताबी साफ नजर आ रही है। इतना ही नहीं, इस शो से जुड़े कलाकार और बाकी के लोग भी बेहद उत्साहित हैं। यह शो महान राजा अग्रसेन महाराज पर आधारित पहला सोशल-ड्रामा है। इसमें अग्रसेन महाराज और उनकी भक्त गेंदा के बीच के विश्वास के खूबसूरत रिश्ते को दिखाया गया है। यह शो विश्वास, परिवार और जिंदगी के विभिन्न संकटों से उबरने की दिल को छू लेने वाली और दिलचस्प कहानी प्रदर्शित करता है। कुन्दन अग्रवाल के मेरे किरदार की बात करूं, तो वह एक बिजनेसमैन है और उसकी गहनों की एक पुश्तैनी दुकान है, जिसका नाम है- अग्रवाल एण्ड सन्स। उसके दो बेटे हैं- मनीष और वरूण। वह एक फैमिली मैन है और अपने बच्चों एवं परिवार की भलाई एवं खुशी को लेकर हमेशा फिक्रमंद रहता है। उसके लिये उसका परिवार सबसे पहले आता है और उसका परिवार कई पीढ़ियों से गहने बनाने का काम करता आ रहा है। उसकी इच्छा है कि उसके बेटे उसके इस बिजनेस को और आगे बढ़ायें। वह रूढ़िवादी है और उसकी कुछ अपनी मान्यतायें एवं सिद्धांत हैं, जिसके खिलाफ वह नहीं जा सकता।‘‘ साई बल्लाल ने आगे कहा, ‘‘मैं साई बल्लाल के एक नये पहलू को दर्शकों के सामने प्रस्तुत करने के लिये उत्साहित हूं और साथ ही उनकी प्रतिक्रिया का बेसब्री से इंतजार कर रहा हूं। मुझे उम्मीद है कि वे मुझे उसी तरह प्यार करते रहेंगे, जैसे उन्होंने अब तक किया है।‘‘ 

और अधिक जानने के लिये हमारे साथ बने रहिये और देखते रहिये ‘घर एक मंदिर-कृपा अग्रसेन महाराज की‘ बहुत जल्द एण्डटीवी पर!