आकाश चोपड़ा ने भी धोनी की लीडरशिप का लोहा माना

अपनी कप्तानी में भारत को तीन आईसीसी ट्रॉफी जितवा चुके पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने हाल में अपना 40वां जन्मदिन मनाया है। वह दुनिया के एकमात्र कप्तान रह चुके हैं, जिन्होंने अपनी कप्तानी में आईसीसी के तीनों ट्रॉफी जीते हैं। धोनी के खेल के साथ साथ उनकी कप्तानी की भी दुनिया लोहा मानती है। भारत के पूर्व क्रिकेटर आकाश चोपड़ा ने भी धोनी की कप्तानी का लोहा माना है। चोपड़ा ने कहा है कि अपनी लीडरशिप के साथ साथ धोनी कप्तानी के एक नए आयाम को सामने लेकर आए हैं। माही की कप्तानी में भारतीय टीम ने 2007 में टी20 वर्ल्ड कप, 2011 में वर्ल्ड कप और 2013 में आईसीसी चैम्पियंस  ट्रॉफी जीती है।  

आकाश चोपड़ा ने अपने यू ट्यूब चैनल पर कहा, ' धोनी ने हमें कप्तानी का नया तरीका सिखाया है। सौरव ने खिलाड़ियों को खोजा, लेकिन उन्होंने (धोनी) उन्हें निखारा। उन्होंने एक ऐसा माहौल तैयार किया, जहां वह उन खिलाड़ियों से उनका बेस्ट निकाल सकते हैं।' पूर्व कप्तान धोनी ने भारत के लिए 200 वनडे मैचों में कप्तानी है, जिसमें से भारत को 110 मैचों में जीत मिली है। साथ टी20 क्रिकेट में भी भारत ने उनकी कप्तानी में 72 मैचों में से 41 में जीत हासिल की है। 

क्रिकेटर से कॉमेंटेटर बने चोपड़ा ने तेज गेंदबाज दीपक चाहर का उदाहाण देते हुए बताया कि धोनी ने ही उन्हें डेथ ओवरों का स्पेशलिस्ट बनाया है। उन्होंने कहा, ' व​ह अच्छी तरह से समझते हैं कि एक खिलाड़ी क्या कर सकता है और क्या नहीं। दीपक चाहर, एक उदाहरण है कि कैसे उन्होंने खुद को डेथ ओवरों के लिए तैयार किया है। यही चीज धोनी को एक अदभुत कप्तान बनाता है। आपने उन्हें बहुत ही कम अपना गुस्सा खोते हुए देखा होगा। 

पूर्व क्रिकेटर ने धोनी के शांत स्वभाव की तारीफ करते हुए बताया, ' गेम को पढ़ने की उनकी क्षमता काफी शानदार है। आप नहीं चाहते हैं कि आपका कप्तान अपना आपा खोए और आपको अपनी भावनाएं जाहिर होने दे। आपने बहुत ही कम धोनी को गुस्सा होते हुए देखा होगा। उनकी कप्तानी का तरीका पूरी तरह से अलग है। वह आप पर भरोसा रखते हैं और खुद पीछे रहते हैं। अगर कुछ गलत होता है तो वह मैनेज कर लेंगे। यही आत्मविश्वास उन्हें एक अलग लेवल पर ले जाता है।'