गुणों की खान है राई, सेहत को मिलेंगे लाजवाब फायदे

राई या सरसों के छोटे-छोटे दाने ढोकला, सांभर, पोहा, नारियल चटनी, दाल आदि बनाने में इस्तेमाल होते हैं। इसे व्यंजन का स्वाद दोगुना हो जाता है। वहीं इसमें मौजूद पोषक तत्व,एंटी-ऑक्सीडेंट्स व औषधीय गुण सेहतमंद रहने में मदद करते हैं। एक्सपर्ट्स के अनुसार, इसका सेवन करने से पाचन दुरुस्त रहने के साथ जोड़ों व माइग्रेन पेन से राहत मिलती है। चलिए आज हम आपको इस आर्टिकल में राई के बेहतरीन फायदे बताते हैं...

- सिरदर्द और माइग्रेन में फायदेमंद

राई के बीजों में मैग्नीशियम अधिक होता है। ये नर्वस सिस्टम को रिलैक्स करने में मददगार साबित होती है। एक्सपर्ट्स के अनुसार, राई के कुछ दानों का पानी के साथ सेवन करने से सिरदर्द और माइग्रेन पेन से राहत मिलती है।

- वात, पित्त और कफ रखे कंट्रोल

आयुर्वेद के अनुसार, बीमारियों की चपेट में आने का मुख्य कारण शरीर में त्रिदोष का असंतुलन माना जाता है। वहीं राई का सेवन करने से त्रिदोष यानी वात, पित्त और कफ कंट्रोल रहने में मदद मिलती है।

- सूजन से दिलाए आराम

अक्सर पैर मुड़ने, मोच आने व शरीर के किसी हिस्से में सूजन की समस्या हो जाती है। ऐसे में राई को पीसकर हल्का गर्म करें। फिर इसे अरंडी के पत्ते पर लगाकर प्रभावित जगह पर बांध लें। इससे जल्द ही आराम मिलता है।

- गठिया का दर्द व सूजन करे कम

गठिया का दर्द व सूजन होने पर राई का लेप बनाकर लगाने से आराम मिलता है। इसके लिए राई के कुछ और कपूर पीसकर कर प्रभावित जगह पर लेप लगाकर पट्टी बांधें। इस प्रक्रिया को दिन में 2 बार दोहराएं। इससे जल्द ही आराम मिलेगा। आप कपूर की जगह पर चीनी मिलाकर भी लगा सकती है।

- लिवर से जुड़ी समस्या से छुटकारा पाने के लिए

लिवर संबंधी समस्या से छुटकारा पाने के लिए 500 मिलीग्राम राई को पीस लें। फिर इसका गोमूत्र के साथ सेवन करने से फायदा मिलता है।

- पाचन रहे दुरुस्त

1-2 ग्राम राई को पीसकर थोड़ी सी शक्कर के साथ मिलाएं। इसका सेवन करने से पाचन दुरुस्त होने में मदद मिलती है।

- सांस संबंधी समस्याओं से आराम

सांस से जुड़ी समस्याओं को दूर करने के लिए राई कारगर मानी जाती है। इसके लिए 500 मिलीग्राम राई पीस कर उसे देसी घी व शहद के साथ मिलाएं। अगर आपको कफ की समस्या ना हो तो थोड़े से इस चूर्ण में मिश्री पाउडर मिलाकर सुबह-शाम खाएं।

posted by - दीपिका पाठक