तीनों कृषि कानून हों वापस, किसानों के प्रति सरकारों को होना चाहिए हमदर्द: मायावती

लखनऊ। केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों पर सड़क से लेकर संसद तक संग्राम मचा हुआ है। मानसूत्र सत्र के बीच किसानों ने तीन कानूनों को रद्द करने की मांग करते हुए अपने आंदोलन को और तेज कर दिया है। किसानों के आंदोलन पर राजनीति भी जमकर हो रही है। विपक्षी दल भी किसानों का समर्थन करते हुए केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए निशाना साध रहे हैं। इस बीच बहुजन समाज पार्टी की मुखिया और उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने भी तीनों कानूनों को रद्द करने की मांग की है। बसपा सुप्रीमो मायावती ने शुक्रवार को ट्वीट किया, किसानों के प्रति सरकारों को अहंकारी ना होकर, बल्कि संवेदनशील और हमदर्द होना चाहिए। किन्तु दुख यह है कि तीन कृषि कानूनों को रद्द करने को लेकर काफी लंबे समय से किसान यहां आंदोलित हैं, अब ये जंतर मंतर पर किसान संसद लगाए हैं। केंद्र चालू सत्र में ही इनको रद्द करें। बीएसपी की यह मांग है।