लखनऊ के सीएमएस स्कूल समेत 5 को नोटिस भेज एक्टिविस्ट ने हाई कोर्ट में दाखिल की कैविएट

राज्यपाल और मुख्यमंत्री को सिटी मोंटेसरी स्कूल समूह की अनियमितताओं के साक्ष्य देंगे संजय

लखनऊ। यूपी की राजधानी लखनऊ के राजाजीपुरम निवासी सक्रिय आरटीआई कार्यकर्ता इंजीनियर संजय शर्मा ने विश्वविख्यात शिक्षाविद जगदीश गांधी के लखनऊ स्थित सिटी मोंटेसरी स्कूल समूह तथा राजाजीपुरम स्थित सेंट एन्जनीज पब्लिक स्कूल समेत 5 पक्षों को नोटिस भेजकर बीते कल हाई कोर्ट की लखनऊ बेंच में कैविएट याचिका दाखिल करके सूचना आयुक्त प्रमोद कुमार तिवारी द्वारा ‘शिक्षा का अधिकार कानून’ के दायरे के प्रदेश के सभी  निजी विद्यालयों को ‘सूचना का अधिकार कानून’ के दायरे में लाने के ऐतिहासिक फैसले के खिलाफ हाई कोर्ट में याचिका दाखिल होने पर संजय को भी अपना पक्ष रखने का मौका देने की गुहार लगाई है। समान शिक्षा के अधिकार और अभिभावक हितों के संरक्षण के क्षेत्र में लम्बे समय से काम कर रहे समाजसेवी संजय ने बताया कि लखनऊ स्थित सिटी मोंटेसरी स्कूल समूह तथा राजाजीपुरम स्थित सेंट एन्जनीज पब्लिक स्कूल द्वारा शिक्षा का अधिकार अधिनियम का पालन नहीं किये जाने की शिकायतें मिलने के बाद उन्होंने इन विद्यालयों की सूचनाएं आरटीआई से माँगी थी और सूचना नहीं मिलने पर  सूचना आयोग में शिकायत की थी। संजय की शिकायत पर सुनवाई के समय सिटी मोंटेसरी स्कूल समूह के फाउंडर मेनेजर जगदीश गांधी,सेंट एन्जनीज पब्लिक स्कूल और संजय शर्मा के पक्षों को सुनने के बाद राज्य सूचना आयुक्त प्रमोद कुमार तिवारी ने ‘शिक्षा का अधिकार कानून’ के दायरे के प्रदेश के सभी निजी विद्यालयों को ‘सूचना का अधिकार कानून’ के दायरे में लाने का ऐतिहासिक आदेश पारित बीती 14 जुलाई को किया था जिसके सम्बन्ध में संजय ने बीती 21 जुलाई को सूबे के मुख्य सचिव,माध्यमिक और बेसिक शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिवों, सिटी मोंटेसरी स्कूल समूह के मैनेजर तथा राजाजीपुरम स्थित सेंट एन्जनीज पब्लिक स्कूल के मैनेजर को नोटिस भेजा था और बीते कल हाई कोर्ट लखनऊ में कैविएट याचिका दाखिल कर दी है। संजय ने बताया कि उनकी सामाजिक संस्था ‘तहरीर’ की अखिल भारतीय भ्रष्टाचार विरोधी हेल्पलाइन 7991479999 पर जगदीश गांधी के लखनऊ स्थित सिटी मोंटेसरी स्कूल समूह की अनियमितताओं के सम्बन्ध में अनेकों शिकायतें मिली थीं जिनके पुष्टिकारक साक्ष्य जुटाने के लिए उन्होंने आरटीआई का सफल प्रयोग किया है.बकौल संजय सूबे की राज्यपाल और मुख्यमंत्री से व्यक्तिगत भेंटवार्ता का समय मिलते ही वे उनको सिटी मोंटेसरी स्कूल समूह की अनियमितताओं के सम्बन्ध में उनके पास उपलब्ध सभी साक्ष्य राज्यपाल और मुख्यमंत्री को सौंपकर वे सिटी मोंटेसरी स्कूल समूह के खिलाफ कार्यवाही की गुहार लगायेंगे तथा उसके बाद लखनऊ में एक सार्वजनिक प्रेस वार्ता के माध्यम से सभी साक्ष्य मीडिया के माध्यम से सार्वजनिक करेंगे।