18 साल बाद मात्र ढाई फीट पर चल रही नहर

बांदा। लगभग 18 साल बाद केन केनाल नहर पूरी क्षमता से नहीं चल पा रही है। इसकी मुख्य वजह बांधों में पानी का कम स्टोर होना बताया गया है। जुलाई माह में केन कैनाल में लगभग आठ फीट पानी छोड़ा जाता था, लेकिन मौजूदा समय सिर्फ 2.5 फीट पर नहर चलाई जा रही है। अतर्रा और बांदा ब्रांच नहरों में भी पूरी क्षमता से नहर नहीं चल पा रहीं। एसडीओ (सिंचाई विभाग) कमल कुमार ने बताया कि बांध क्षेत्रों में पर्याप्त बारिश न होने से पानी का स्टोर बेहद कम है। इसी वजह से नहर पूरी क्षमता से नहीं चलाई जा रही। बताया कि वर्ष 2003 के बाद के बाद अब ऐसी स्थिति आई है। पर्याप्त बारिश नहीं हुई तो बमुश्किल 10 दिन से ज्यादा नहर नहीं चल सकेगी।