Emergency 25 June 1975: PM मोदी ने कहा- इंदिरा गांधी सरकार ने हमारे लोकतांत्रिक मूल्यों को कुचला

नई दिल्ली: देश में आपातकाल लागू किए जाने की 46वीं बरसी पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस पर जोरदार हमला बोला है और कहा है कि कांग्रेस की तत्कालीन इंदिरा गांधी सरकार ने न केवल हमारे लोकतांत्रिक मूल्यों को कुचला बल्कि हमारे महानुभावों की ऐतिहासिक विरासत को भी अंधेरे में रखा था. आपातकाल की बरसी पर पीएम ने उन महानुभावों को याद किया है, जिन्होंने इमरजेंसी का विरोध किया था और लोकतंत्र की रक्षा की थी.

पीएम मोदी ने ट्वीट किया, "इस तरह कांग्रेस ने हमारे लोकतांत्रिक लोकाचार को कुचला. हम उन सभी महानुभावों को याद करते हैं जिन्होंने आपातकाल का विरोध किया और भारतीय लोकतंत्र की रक्षा की."

प्रधानमंत्री ने दूसरे ट्वीट में लिखा, "#DarkDaysOfEmergency को कभी भुलाया नहीं जा सकता. 1975 से 1977 की अवधि में संस्थानों का व्यवस्थित विनाश देखा गया...आइए हम भारत की लोकतांत्रिक भावना को मजबूत करने के लिए हर संभव प्रयास करने का संकल्प लें, और हमारे संविधान में निहित मूल्यों पर खरा उतरें."

इसके साथ ही पीएम मोदी ने इन्स्टाग्राम पर बीजेपी द्वारा जारी किए गए उन तथ्यों की स्लाइड भी साझा की है, जो आपातकाल से जुड़े हैं. इन स्लाइड में बीजेपी ने दिखाया है कि आपातकाल के दौरान तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने क्या-क्या प्रतिबंधित कर दिए थे.

बीजेपी के मुताबिक, 1975 से 1977 के बीच यानी इमरजेंसी के दौरान स्वतंत्रता सेनानी और शहीद देशभक्त चंद्रशेखर आजाद और भगत सिंह पर बनी फिल्मों के प्रदर्शन पर रोक लगा दी गई थी. इनके अलावा किशोर कुमार के गाने, राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और गुरुदेव रवींद्र नाथ टैगोर के विचारों के प्रसार पर रोक लगा दी गई थी. देश में 25 जून 1975 से 21 मार्च 1977 के बीच 21 महीने की अवधि तक आपातकाल लागू रहा. इंदिरा गांधी उस समय देश की प्रधानमंत्री थीं.