चंद्रशेखर जी के संघर्षों को याद कर समर्पण का लिया संकल्प

जहानागंज आज़मगढ़ । श्री चंद शेखर जी स्मारक ट्रस्ट रामपुर में शुक्रवार को पूर्व मंत्री व विधान परिषद सदस्य यशवंत सिंह के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने देश के पूर्व प्रधानमंत्री युवा तुर्क नेता श्री चंद्रशेखर जी की आदमकद प्रतिमा के नीचे बैठकर  आज के दिन को काला दिवास के रुप में याद करते हुए देश हित में समर्पित होकर कार्य करने का संकल्प लिया इस अवसर पर यशवंत सिंह ने कहा 25 जून 1975 को देश की तत्कालीन प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गांधी ने देश में आपातकाल लागू करके सब की स्वतंत्रता को खत्म कर दिया था देश की आजादी के बाद देश पर यह सबसे बड़ा हमला था जिसमें लोकतंत्र की हत्या की जा रही थी  लोकनायक जयप्रकाश नारायण जी के नेतृत्व में चल रहे आंदोलन को कुचलने के लिए यह आपातकाल लगाया गया था आज ही के दिन जयप्रकाश जी को गिरफ्तार किया गया था जिसका विरोध कांग्रेसमें रहते हुए चंद्रशेखर जी ने किया और अपनी गिरफ्तारी भी दी श्री सिंह ने बताया 19 माह चंद्रशेखर जी जेल में रहे जिससे आक्रोशित होकर इस आंदोलन को गति प्रदान करते हुए देश के लाखों  युवाओं और नेताओं ने देश की दूसरी आजादी की लड़ाई लड़ी थी और संघर्षों के के बल पर अंत में जनता की विजय हुई और जनता पार्टी की सरकार बनी थी श्री सिंह ने कहा की शेखर जी के संघर्षों के बल पर मिली सफलता ने यह साबित कर दिया कि देश में कोई भी हुकूमत जब हिटलरशाही और तानाशाही के रास्ते पर चलती है जिसका ईमानदारी के साथ पुरजोर विरोध करने पर उसे घुटने टेकने  हीं पड़ते हैं आज के दिन श्री चंद शेखर जी की प्रतिमा के नीचे बैठकर हम सभी उनके संघर्षो से  प्रेरणा लेकर कार्य करने का यह संकल्प करते हैं हमे भी  जरूरत पड़ने पर अन्याय के विरुद्ध चट्टान की तरह अडिग होकर कार्य करना चाहिए आज के दिन कांग्रेस द्वारा किये गए कुकृत्यों को  काला  दिवस के रूप में सदा याद किया जाएगा इस अवसर पर उदय शंकर चौरसिया लाल बहादुर सिंह लालू राणा प्रताप सिंह दिलीप मिश्रा रमेश कन्नोजिया  अतुल चौबे चंचल चौबे बंगाली यादव बबलू राम कमलेश राय कमला सिंह सहित अन्य लोग भी उपस्थित थे।