प्रत्येक व्यक्ति को आत्मनिर्भर बनाने के लिए प्रदेश सरकार प्रतिबद्ध: मुख्यमंत्री

सहारनपुर। उत्तर प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रधानमंत्री की आत्मनिर्भर भारत की परिकल्पना को साकार करने में एम.एस.एम.ई. का महत्वपूर्ण योगदान है। उन्होने कहा कि प्रदेश सरकार स्वरोजगार के माध्यम से प्रत्येक व्यक्ति को आत्मनिर्भर बनाने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होने कहा कि कोरोना महामारी के दृष्टिगत जीवन के साथ जीविका बचाने के लिए भी प्रदेश सरकार कृत संकल्पित है। 

योगी आदित्यनाथ  वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से ऑन लाईन स्वरोजगार संगम के तहत ऋण वितरण तथा टूल किट वितरण कार्यक्रम में यह बात कही। कार्यक्रम में ओडीओपी योजनान्तर्गत 09 जनपदों के 73.54 करोड़ की लागत के सामान्य सुविधा केन्द्रों का शिलान्यास तथा ऑन लाईन पोर्टल का शुभारम्भ किया गया। प्रदेश की 31542 एम.एस.एम.ई. ईकाईयों को 2505.58 करोड़ रूपये का ऋण वितरण किया गया। उन्होने कहा कि राज्य स्तर के साथ ही जनपद स्तर पर भी जनप्रतिनिधियों की उपस्थिति में इस प्रकार के लोन मेले आयोजित किए जाएं। उन्होने कहा कि प्रदेश सरकार ने युवाओं को सरकारी नौकरी देने के साथ-साथ स्वरोजगार देने में भी बेहतर कार्य किए है। 

जनपद सहारनपुर के कलीम अहमद को प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के तहत हौजरी कार्य के लिए 25 लाख, श्री मंजीत को मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना के तहत दुग्ध उत्पाद निर्माण के लिए 05 लाख, श्री राजकुमार को मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना के तहत डिस्क रिपेयरिंग व सर्विसिंग के लिए 02 लाख एवं श्री शाहदाब को एक जनपद एक उत्पाद के तहत वुडेन फर्नीचर के लिए 10 लाख का ऋण दिया गया। विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना के तहत श्री सार्थक को बढई के लिए तथा श्री अवनीश कुमार को मोची के काम के लिए टूल किट वितरित किए गए। कलेक्ट्रेट परिसर स्थित एन0आई0सी0 में वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के दौरान जिलाधिकारी श्री अखिलेश सिंह, उपायुक्त उद्योग श्री सिद्धार्थ यादव, एल.डी.एम. श्री संतोष कुमार तथा लाभार्थी मौजूद रहे।