"सेलिब्रिटी चाहे तो समाज को नुकसान कर्ता चीज़ों से बचा सकते है"

हर प्रसिद्ध व्यक्ति का एक चाहक वर्ग होता है, अगर वो सेलिब्रिटी कोई नेक काम करती है तो इसका प्रतिसाद अवश्य मिलता है। जैसे फुटबॉल प्लेयर रोनाल्डो की एक हरकत ने एक प्रोडक्ट कोका-कोला कंपनी के शेर के भाव रोतोंरात गिरा दिए।

ऐसी तो कितनी सारी शरीर के लिए हानिकारक प्रोडक्ट है जिनके लिए हमारे सेलिब्रिटीस मॉडलिंग करते है। पान मसाला, गुटका, कोल्ड ड्रिंक, खाने की चीज़ें जिसमें भरपूर मात्रा में प्रिज़र्वेटिव्स होते है। पैसे समाज के लोगों की सेहत से बड़े हो गए। क्रिस्टियानो रोनाल्डो फुटबॉल ही नहीं सोशल मीडिया पर भी बड़ी हस्तियों में से एक हैं। उनके इंस्टाग्राम पर करीब 30 करोड़ फॉलोवर्स हैं। जाहिर है ऐसे में उनके किसी भी इशारे या एक्टिवटी का किसी भी उत्पाद की ब्रांड वैल्यू पर बहुत बड़ा प्रभाव पड़ता है।

पिछले सोमवार एक जबरदस्त घटना घटी फुटबॉल के सुपरस्टार क्रिस्टियानो रोनाल्डो ने यूरो चैम्पियनशिप के एक मैच के बाद हुई प्रेस कांफ्रेंस में अपने सामने रखीं कोकाकोला की दोनों बोतलें एक तरफ हटा दीं। उसके बाद उन्होंने वहीं पर रखी पानी की बोतल को उठाकर पत्रकारों को दिखाते हुए कहा “आगुवा” यानी की पानी। कुछ सेकेंडों में उन्होंने जता दिया कि सॉफ्ट ड्रिंक्स को लेकर उनका क्या नजरिया है। देखने वाली बात ये है कि कोकाकोला यूरो कप का टॉप स्पांसर है फिर भी जो चीज़ सेहत के लिए नुकसानदेह है उसके विरुद्ध अपना विचार बेबाकी से रखकर रोनाल्डो ने समझदारी का उदाहरण पेश किया।

हमारे देश के फ़िल्म स्टार और खेल जगत के खिलाड़ी ऐसी खेलदिली दिखा सकते है क्या? धोनी, सचीन, विराट, सलमान, शाहरुख को सीखना चाहिए। 

रोनाल्डो की इस एक समझदारी से यह हुआ कि कोकाकोला के शेयर के भाव गिरना शुरू हो गए। इस घटना का ऐसा जबरदस्त प्रभाव पड़ा कि कुछ ही घंटों के भीतर कम्पनी को अरबों रुपयों का नुकसान हो गया। यह गिरावट अब भी जारी है। कंपनी का मार्केट कैप 242 अरब डॉलर से घटकर 238 अरब डॉलर पर आ गया. यानि कंपनी को एक दिन में 4 अरब डॉलर (करीब 29,300 करोड़ रुपये) नुकसान उठाना पड़ा।

एक इंटरव्यू में रोनाल्डो से इस मामले में  पूछा गया तो उन्होंने कहा, "मैं खुद सॉफ्ट ड्रिंक नहीं पीता, मैं नहीं चाहूंगा कि कोई दूसरा बच्चा मेरी वजह से ऐसा करें मैं कोई डाॅक्टर नहीं हूं, लेकिन मुझे पता है कि सॉफ्ट ड्रिंक्स स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हैं और मैंने अपने मैनेजर को इस बारे में साफ-साफ कह रखा है कि मैं किसी भी ऐसे प्रॉडक्ट के साथ नहीं जुड़ूंगा, चाहे वह सॉफ्ट ड्रिंक हो या सिगरेट या शराब। इस बात से साबित होता है कि सेलिब्रिटी चाहे तो नुकसान कर्ता चीज़ो से लोगों को बचा सकते है। सेलिब्रिटी इसे कहते है जो एक जागरूक नागरिक बनकर समाज को सही राह दिखाए। नांकि पैसों के लिए इंसान की ज़िंदगी से खिलवाड़ करने वाली चीज़ों का विक्रेता बनें।

(भावना ठाकर, बेंगुलूरु)#भावु