प्रेगनेंसी के दौरान लाफ्टर थेरेपी है बच्चे के लिए वरदान

हंसना सेहत के लिए बहुत लाभदायक है, फिर वह चाहे झूठी हंसी ही क्यों न हों। एक्सपर्ट के अनुसार, झूठी हंसी भी आपकी सेहत के लिए काफी फायदेमंद हैं। कई शोधों के अनुसार, नकली हंसी में भी आपकी कई मसल्स काम करती हैं और रिलेक्स महसूस करती हैं। वहीं हेल्थ एक्पर्ट के मुताबिक, रोजाना हंसने से सेहत तो अच्छी रहती ही है वहीं हंसने से शरीर में एनर्जी भी उत्पन्न होती हैं। ऐसे में अगर गर्भवती महिलाएं हंसने वाली थेरेपी करती है तो यह उनके शरीर के साथ-साथ गर्भ में पल रहे बच्चे के लिए भी भहुत लाभदायक है। आईए जानते हैं कैसे-

 -हंसने से जहां मानसिक और शारीरिक शांति मिलती है वहीं हंसना और खुश रहना केवल मां को ही नहीं बल्कि बच्चे को भी कई फायदे पहुंचाता है। 

 -हंसने से हमारे शरीर के विभिन्न अंगों में रक्त का संचार होता है। जिससे बच्चा हैल्थी रहता है। इसके अलावा यह थेरेपी चेहरे और त्वचा के साथ-साथ बालों की चमक को भी बढ़ाता है। यही वजह है कि प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं को हंसने और खुश रहने की सलाह दी जाती है।

प्रैगेंसी के दौरान महिलाओं के हंसने से बच्चों को होता ये फायदा-

बच्चा हेल्दी पैदा होता है- प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं  के ज्यादा से ज्यादा हंसने और खुश रहने से उसकी खुद की सेहत तो बेहतर रहती ही है साथ ही गर्भस्थ शिशु ज्यादा एक्टिव रहता है और बच्चा हेल्दी पैदा होता है। इसलिए ज्यादा से ज्यादा खुश रहें।

बच्चा बुद्धिमान पैदा होता है - प्रेग्नेंसी के दौरान ज्यादा हंसने और खुश रहने से बच्चा पूरी तरह से हेल्दी होने के साथ-साथ बुद्धिमान भी होता है. इसलिए प्रेग्नेंसी के दौरान ज्यादा खुश रहना चाहिए। दरअसल,  मां के हंसने से उसका प्रभाव बच्चे के मस्तिष्क की कोशिकाओं पर भी होता है, जिससे बच्चे के मस्तिष्क विकास में मदद मिलती है।

स्ट्रैस दूर करता है-लाफ्टर थेरेपी से प्रेग्नेंट महिला का मूड स्विंग भी ठीक रहता है। जिससे मां और बच्चे के स्वास्थ पर इसका नकारात्मक असर नहीं पड़ता। इसके लिए आप कोई कॉमेडी फिल्म या टीवी शो देख सकते हैं। 

हैप्पी हार्मोन्स करें रिलीज-लाफ्टर थेरेपी  से प्रेग्नेंसी के दौरान होने वाले सिर दर्द, कमर दर्द, पैरों या शरीर में सूजन और थकान जैसी दिक्कतें भी दूर होती हैं।इसके अलावा आपके शरीर  में हैप्पी हार्मोन्स रिलीज होते हैं।

इम्यूनिटी बढ़ाएं- प्रेग्नेंसी के दौरान  लाफ्टर थेरेपी  से तनाव तो कम होता ही है इशके साथ ही बच्चे का इम्यून सिस्टम भी मजबूत होता है।

posted by -दीपिका पाठक