दिल्ली मातृका विवेक साहित्यिक मंच का पर्यावरण दिवस पर ऑनलाइन सम्मेलन

मंडला--पर्यावरण संवर्धन एवं उसके महत्व  को बनाये रखने हेतु जागरूकता का संदेश फैलाने व जनमानस में चेतना प्रसारित करने हेतु यह ऑनलाइन कवि सम्मेलन दिल्ली मातृका विवेक साहित्यिक मंच (पंजीकृत) द्वारा  पर्यावरण दिवस पर आयोजित किया गया।

     विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर देश के गणमान्य रचनाकारों ने इसमें सहभागिता की। सभी प्रबुद्ध रचनाकारों के द्वारा साहित्य की विभिन्न विधाओं में एक से बढ़कर एक रचनाओं की प्रस्तुति की गई। मातृका विवेक साहित्यिक मंच की राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष सुश्री प्रीति हर्ष तथा उपाध्यक्ष आदरणीय आरती तिवारी सनत ,तकनीकी प्रभारी

स्वाति जैसलमेरिया, मंजू राजानी जी,प्रो(डॉ)शरद नारायण खरे(मंडला,मप्र)व भारत के कोने कोने से सभी रचनाकारों ने पर्यावरण जागरूकता संचार  के लिए अपनी लेखनी से मंच पर एक से ‌बढ़कर एक रचनाओं को प्रस्तुत किया।

 मप्र से लब्धप्रतिष्ठित कवि प्रो(डॉ)शरद नारायण खरे ने बढ़िया दोहे पेश किए---

      ""पेड़ कट रहे नित्य ही,मौसम मारे मार"

       नदियाँ मैली हो गईं,हवा हुई बीमार ।।"

उनके अतिरक्त एम.एल. नत्थानी, रंजना बिनानी काव्या, सुनीता हेड़ा,हेमंत कुमार रावल,कवि मनोहर सिंह चौहान मधुकर,कुमकुम वेद सेन,रामेश्वर प्रसाद गुप्ता,चंद्रिका व्यास ,स्वाति जैसलमेरिया रेवा,डॉ.अलका पाण्डेय,पद्माक्षी शुक्ल,पदमा तिवारी ,अपर्णा दुबे,कल्पना सेठी कला ,प्रो.दिवाकर दिनेश गौड़,प्रो विलास गायकवाड़,मुस्कान बच्चानी ,सुखविंद्र सिंह मनसीरत,सुधा शर्मा,वीना आडवाणी "तन्वी",

भास्कर सिंह माणिक कोंच,गायत्री ठाकुर "सक्षम",इंदु सिन्हा,गीता पांडे अपराजिता,सुनीता हेड़ा, छगनराज राव "दीप",बलबीर सिंह वर्मा वागीश,रमाकांत सोनी,कुमारी चंदा देवी स्वर्णकार, रजनी वर्मा ,अजय पटनायक "मयंक",ज्योत्सना भरत लाल कन्नौजे ज्योति,शंकर सिंह सिदार भोले ,,खेमराज साहू "राजन",अंजलि तिवारी मिश्रा,विनोद कुमार "जोगी",उर्मिला सिदार,लता शर्मा, गुलशन खम्हारी "प्रद्युम्न" रायगढ़,डॉ.इंदिरा गुप्ता यथार्थ,मधु गोयल मधु,गीता उपाध्याय ,नीरजा शर्मा,मोनिका कटारिया मीनू,कमल नारायण ,डॉ. किरण जैन,संगीता शर्मा कुंद्रा,आभा मुकेश साहनी,दीन दयाल दीक्षित,सतेन्द्र शर्मा तरंग ,डॉ. विजयलक्ष्मी , नरेश सिंह नयाल, डॉ. राजेश कुमार जैन,नीलम डिमरी,कविता उपाध्याय "शिप्रा",मंजू पांडेय उर्फ महक  जौनपुरी जी,चेतना चितेरी,नीना मोहन श्रीवास्तव,रेनू मिश्रा "दीपशिखा" ,

नूतन मिश्रा, डॉ.पूर्णिमा मालवीय,डॉ. उपासना पांडेय  ,आभा मिश्रा ,उर्वशी उपाध्याय ,पुष्पलता लक्ष्मी जी ,रेनू मिश्रा (लखनऊ),ललिता पाठक नारायणी ,अजय डाभी,सचिन कुमार,कलावती करवा षोडश कला,महेजबीन  महमूद राजानी आदि सम्मानित सम्मिलित सभी रचनाकारों ने पर्यावरण संरक्षण के लिए लेखनी के माध्यम से अपनी भागीदारी कर योगदान दिया।

       मातृका विवेक साहित्यिक मंच दिल्ली द्वारा सभी प्रतिभागी साहित्यकारों को *पर्यावरण सखा*सम्मान से सम्मानित भी किया गया ।

प्रो(डॉ)शरद नारायण खरे