पंजाब कांग्रेस में अंतर्कलह के बीच दिल्ली पहुंचे मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह, पार्टी नेताओं के बीच सुलह के लिए बनाई गई समिति के सदस्यों से मुलाकात करेंगे मुलाकात

नई दिल्ली: पंजाब कांग्रेस में अंतर्कलह के बीच मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह दिल्ली पहुंचे हैं. माना जा रहा है कि वो  पार्टी नेताओं के बीच सुलह के लिए बनाई गई समिति के सदस्यों से मुलाकात करेंगे. अमरिंदर सिंह ने कुछ दिनों पहले नवजोत सिंह सिद्धू और अन्य असंतुष्ट नेताओं के साथ सुलह समझौते के संकेत भी दिए थे. उन्होंने कहा था कि हम एक परिवार की तरह ही हैं.पंजाब के मुख्यमंत्री का पिछले कुछ दिनों में यह दूसरा दिल्ली दौरा है. वह केंद्रीय टीम के समिति के सदस्यों से मिलेंगे, जो पंजाब में कांग्रेस नेताओं के बीच मची कलह को शांत करने और सुलह-समझौते का रास्ता तलाश करने के लिए बनाई गई है.

पिछले महीने भी अमरिंदर सिंह ने तीन सदस्यीय समिति के नेताओं से मुलाकात की थी. इस पैनल का गठन पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने किया था. पंजाब में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के बीच सुलह समझौते की यह कवायद की जा रही है. पंजाब कांग्रेस के कुछ नेताओं ने अमरिंदर सिंह के नेतृत्व और कुछ अहम मुद्दों पर उनकी निष्क्रियता पर सवाल उठाए हैं. खासकर धार्मिक ग्रंथ की बेअदबी के मामले में कार्रवाई न होने से एक वर्ग नाराज है, जबकि पंजाब कांग्रेस ने पिछले विधानसभा चुनाव के दौरान इसका वादा किया था.

पंजाब सरकार में दलित समुदाय का प्रतिनिधित्व कम होने और मुख्यमंत्री का सभी के लिए उपलब्ध न होने से भी एक धड़ा नाराज है. विधायकों का कहना है कि अगर कांग्रेस पिछले विधानसभा चुनाव के दौरान किए गए वादों को पूरा करने में असफल रहती है तो उसे ग्रामीण इलाकों में मतदाताओं के गुस्से का सामना करना पड़ सकता है.