बारिश में हुए जलभराव वाली जगहों को देख एसडीएम बिफरे

उरई/जालौन। रविवार की रात एक घंटे हुई मूसलाधार बारिश ने नगर पालिका की सफाई व्यवस्था की पोल खोल दी। नाले और नालियों की सफाई न होने से बारिश का पानी घुटनों तक सड़कों पर भरा रहा। इससे नागरिकों को आवागमन में भारी दिक्कत हुई। बारिश बंद होने के बाद एसडीएम अशोक कुमार ने जलभराव वाले स्थानों का निरीक्षण कर पालिका के पेंच कसे। डीएम प्रियंका निरंजन ने निकायों को निर्देश दिए थे कि बारिश से पहले सभी नाले-नालियों की साफ सफाई कर ली जाए। पालिका ने उनके निर्देशों का कितना पालन किया, यह रविवार को हुई एक घंटे की मूसलाधार बारिश ने बता दिया। सड़कों और कस्बे की गलियों के सभी नाले और नालियां उफना गई थीं। घुटनों तक पानी भरे रास्तों पर लोगों का निकल पाना दूभर रहा। चंदकुआं इलाका बारिश बंद होने के घंटों बाद तक जलमग्न रहा। सागर तालाब, गांधी नगर, नईबस्ती, मालवीय नगर, गोखले नगर, राम तलैया, आराजी लेन जैसे इलाकों में जलभराव से लोग हलकान रहे। एसडीएम अशोक कुमार बारिश के बाद उन जगहों के निरीक्षण के लिए निकले, जहां जलभराव की सूचना मिली। निरीक्षण के बाद उन्होंने पालिका के पेंच कसे। कहा कि जहां-जहां नाले नालियों की सफाई नहीं हुई है, वहां तत्काल सफाई कराई जाए।