डेल्टा प्लस वेरिएंट के मामलों के बीच राहुल गांधी ने मोदी सरकार से पूछे ये सवाल

नई दिल्ली: कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कोरोना वायरस पर व्हाइट पेपर जारी करने के बाद आज मोदी सरकार से डेल्टा प्लस वेरिएंट को लेकर सवाल पूछा है. राहुल गांधी ने सरकार से पूछा कोरोना के डेल्टा प्लस वेरिएंट की जांच और रोकथाम के लिए बड़े स्तर पर टेस्टिंग क्यों नहीं हो रही है? साथ ही इस वेरिएंट पर वैक्सीन कितनी प्रभावशाली है, इसकी जानकारी कब मिलेगी. 

राहुल गांधी ने शुक्रवार को ट्वीट में कहा, " डेल्टा प्लस वेरिएंट पर मोदी सरकार से प्रश्न- इसकी जांच व रोकथाम के लिए बड़े स्तर पर टेस्टिंग क्यों नहीं हो रही? वैक्सीन इसपर कितनी प्रभावशाली हैं व पूरी जानकारी कब मिलेगी? तीसरी लहर में इसे नियंत्रित करने का क्या प्लान है?"

देश मे कोरोनावायरस की दूसरी लहर में वायरस के डेल्टा वेरिएंट ने तबाही मचाई थी. अब इसके डेल्टा प्लस वेरिएंट को लेकर डर सताने लगा है. ऐसी सुगबुगाहट है कि देश में तीसरी लहर इस वेरियंट के चलते आ सकती है. अब तक इस वेरिएंट से संक्रमित 40 से ज़्यादा केस सामने आ चुके हैं, जिसमें सर्वाधिक मामले महाराष्ट्र में हैं.

हाल ही में कोविड पर व्हाइट पेपर जारी करते हुए राहुल गांधी ने कोरोना की तीसरी लहर को लेकर केंद्र सरकार को चेताया है. उन्होंने कहा कि दुनिया को पता है कि तीसरी लहर आने जा रही है. हम कह रहे हैं कि सरकार को तीसरी लहर के लिए पूरी तैयारी करनी चाहिए. हमारा लक्ष्य ये है पहली और दूसरी लहर में जो कोविड मैनेजमेंट विनाशकारी रहा है, ऑक्सीजन और दवा की जिस तरह की किल्लत रही, अब तक वो आगे नहीं होना चाहिए.