प्रशासन ने रुकवाया बाल विवाह

 परसपुर /गोंडा । थानाक्षेत्र परसपुर में हो रहे बाल विवाह को प्रशासन ने रुकवा दिया है तथा बालिका को अपने संरक्षण में लेकर न्यायालय के आदेश पर वन स्टॉप सेन्टर में संरक्षित कर दिया है। जिला प्रोबेशन अधिकारी जयदीप सिंह ने बताया कि शनिवार देर शाम चाइल्ड हेल्पलाइन लाइन 1098 सूचना प्राप्त हुई कि थाना परसपुर के किशुनदासपुर में नाबालिक बालिका का विवाह होने जा रहा है, जिस पर कार्यवाही करते हुए संरक्षण अधिकारी नेहा श्रीवास्तव, न्यायालय बाल कल्याण समिति के मनोज उपाध्याय व चाइल्ड लाइन के प्रभारी आशीष मिश्रा को मौके पर भेजा गया। टीम ने पुलिस के साथ पहुंचकर बालिका की काउंसलिंग की। काउंसलिंग के दौरान बालिका ने अपनी आयु 15 वर्ष बतायी, जब उसके परिजनों से उसके उम्र के लिए प्रमाण पत्र मांगा गया तो परिजनों ने बताया कि वह कक्षा 5 तक पढ़ी है तथा उसका शैक्षिक अभिलेख स्कूल में जमा है। प्रकरण में बालिका के कथन के अनुसार व परिजनों द्वारा अभिलेख या कोई दस्तावेज न प्रस्तुत किये जाने की दशा में विवाह को रोकवा दिया गया। इस दौरान टीम के साथ चाइल्ड लाइन शहजाद अली, थाना परसपुर बाल कल्याण अधिकारी उपनिरीक्षक रमेश कुमार वर्मा, महिला सिपाही खुशबु उपस्थित रहे।