सफेद चीनी से 10 गुना ज्यादा हेल्दी स्टीविया, डायबिटीज-मोटापा सब करती है कंट्रोल

सेहत के लिए रिफाइंड शुगर बहुत हानिकारक मानी जाती है इसलिए फिटनेस फ्रीक लोग चीनी से दूरी बना लेते हैं। मगर, ऐसे लोगों को विकल्प के तौर पर कुछ नजर नहीं आता जबकि स्टीविया को आप चीनी की जगह यूज कर सकते हैं। यह न सिर्फ चीनी से ज्यादा मीठा बल्कि फायदेमंद भी है। अब आप सोच रहे होंगे कि स्वीविया क्या है। चलिए आपको बताते हैं कि स्टीविया क्या है और चीनी से क्यों है फायदेमंद...

क्या है स्टीविया?

स्टीविया एक पौधे से निकाली जाती है, जिसमें जीरो कैलोरी होती है। साथ ही इसमें 8 तरह के ग्लाइकोसाइड्स यौगिक, स्टेवियोसाइड, रेबाउडियोसाइड ए, सी, डी, ई, व एफ, स्टीवियोलबायोसाइड और डुलकोसाइड ए होता है। यह चीनी के मुकाबले 200 से 300 गुना ज्यादा मीठी और 10 गुणा हैल्दी होती है इसलिए इसे रिफाइंड शुगर का बेहतरीन विकल्प माना जाता है।

घर पर लगा सकते हैं स्टीविया का पौधा

खास बात तो यह है कि आप इस पौधे को घर पर ही लगा सकते हैं। इसके पत्तों को उबालने पर मिठास निकाल आती है जबकि स्टीविया के उत्पादों को लंबी प्रक्रिया से गुजरना पड़ता है। आप इसका यूज चाय-कॉफी के साथ दूसरे व्यंजनों में भी कर सकते हैं। जैसे आइसक्रीम, सोजेज, योगर्ट, आचार, ब्रैड, सॉफ्ट ड्रिंक, च्विंगम में भी कर सकते हैं।

चलिए अब आपको बताते हैं स्टीविया के जबरदस्त फायदे...

वजन कंट्रोल करे

इसमें जीरो कैलोरीज और सुक्रोज लेवल कम होता है, जिससे वजन कंट्रोल रहता है। साथ ही इसमें फैट भी नहीं होता जिससे वेट लूज में भी मदद मिलती है।

डायबिटीज में फायदेमंद

रिसर्च के मुताबिक स्टीविया डायबिटीज रोगियों के लिए बेहतरीन विकल्प है। इससे इंसुलिन लेवल पर कोई असर नहीं पड़ता।

कैंसर से बचाव

शोध के मुताबिक, इसमें केम्पफेरोल नामक एंटीऑक्सीडेंट कंपाउंड होता है, जो पैंक्रियाज कैंसर की संभावना घटाता है।

बच्चों के लिए

अधिक मीठा खाने से बच्चों के दांत खराब हो जाते हैं। ऐसे में स्टीविया से बने फूड्स उनके लिए बेहतर है। इससे ना ही तो दांत खराब होंगे और ना ही वजन बढ़ेगा।

ब्लड प्रेशर कंट्रोल

इसमें में ग्लाइकोसाइड्स होते हैं, जो ब्लड प्रेशर व हार्टबीट को कंट्रोल कर सकते हैं। ऐसे में इससे दिल को रोगों का खतरा भी काफी हद तक कम हो जाता है।

इसके नुकसान भी जानें...

वैसे तो स्टीविया सो कोई नुकसान नहीं होता लेकिन इससे बने प्रोडक्ट्स अधिक रिफाइंड होते हैं। ऐसे में सेवन सही मात्रा में करें...

. अगर आप बीपी की दवा ले रहे हैं तो इसका सेवन ना करें। इससे ब्लड प्रेशर अधिक लो हो सकता है, जो सेहत के लिए हानिकारक है।

. कुछ लोगों को इससे शरीर में सूजन, चक्कर आना, पेट फूलना और मसल्स में दर्द हो सकती है।

. प्रेगनेंसी में इसका सेवन बिल्कुल भी ना करें।