Italian open: राफेल नडाल ने टूर्नामेंट का खिताब किया अपने नाम

स्पेनिश स्टार राफेल नडाल ने गत चैंपियन नोवाक जोकोविच को तीन सेट के मुकाबले में 7-5, 1-6, 6-3 से शिकस्त देकर रिकॉर्ड 10वीं बार इटालियन ओपन टेनिस टूर्नामेंट का खिताब जीत लिया। यह चौथा मौका है जब उन्होंने एक टूर्नामेंट दस या उससे अधिक बार जीता।

उन्होंने 13 बार फ्रेंच ओपन, 12 बार बार्सिलोना ओपन और 11 बार मोंटे कार्लो की ट्रॉफी जीती है। इसके साथ ही नडाल ने 36वीं एटीपी मास्टर्स 1000 ट्रॉफी जीतकर जोकोविच के सर्वाधिक खिताब जीतने के रिकॉर्ड की बराबरी भी कर ली।

दोनों खिलाड़ियों की यह रोम में फाइनल में छठी जबकि कुल नौवीं भिड़ंत थी। नडाल की यह यहां जोकोविच पर फाइनल में चौथी जबकि कुल छठी जीत है। यह दोनों के बीच कॅरिअर का 57वां मुकाबला था,जिसमें से नडाल ने 28 और जोकोविच ने 29 जीते हैं। 

1990 के बाद सर्वाधिक मास्टर्स खिताब जीतने वाले खिलाड़ी 

खिलाड़ी            खिताब 

जोकोविच            36

नडाल                 36

फेडरर                 28

आंद्रे अगासी        17

एंडी मरे              14

इगा बनीं इटालियन ओपन की नई मलिका 

पोलैंड की 19 वर्षीय इगा स्वितेक इटालियन ओपन की नई मलिका बन गईं। इगा ने मात्र 46 मिनट में गत उपविजेता कैरोलिना प्लिस्कोवा को 6-0, 6-0 से शिकस्त देकर पहली बार डब्ल्यूटीए मास्टर्स 1000 का खिताब जीता। चेक गणराज्य की प्लिस्कोवा को रोम में लगातार दूसरे फाइनल में हार मिली। पिछले बार वह सिमोना हालेप से हारीं थी। इगा के कॅरिअर की कुल तीसरी ट्रॉफी है।

फ्रेंच ओपन की चैंपियन इगा ने पहला सेट बिना कोई प्वांइट गंवाए 21 मिनट में तो दूसरा 25 मिनट में जीता। इगा एक दिन में दो खिलाड़ियों क्वार्टर फाइनल में स्वितोलिना और सेमीफाइनल में अमेरिका की कोको गॉफ को हराकर खिताब मुकाबले में पहुंची थी। 

दुनिया की 15वें नंबर की खिलाड़ी इगा इस जीत से अब सोमवार को जारी होने वाली ताजा डब्ल्यूटीए रैंकिंग में पहली बार शीर्ष दस में शुमार हो जाएंगी। वह मास्टर्स 1000 खिताब जीतनेे वाली चौथी किशोरी है। उनसे पहले क्टिोरिया अजारेंका (मियामी ओपन 2009), बेलिंडा बेंसिस (रोजर्स कप, 2015) और बियांका (इंडियन वेल्स व रोजर्स कप, 2019) ही ऐसा कर पाई हैं। 

डब्ल्यूटीए फाइनल में पांच साल बाद ऐसा हुआ है जब विरोधी खिलाड़ी एक भी अंक नहीं जा पाई। इससे पहले सिमोना हालेप ने 2016 में बुखारेस्ट में अनस्तासिया सेवास्तोवा को इसी अंतर से मात दी थी। इगा ने मैच के बाद कहा,‘यह मुश्किल सप्ताह था लेकिन मैं खुश हूं कि सब कुछ अच्छे से हो गया। मेरा पूरा ध्यान खेल पर था, मुझे खुद पर गर्व है।’