ओलंपिक की तैयारियों में लगे नीरज चोपड़ा पहले खेलना चाहते हैं टूर्नामेंट

ओलंपिक की तैयारियों में लगे जेवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा ने कहा कि अभ्यास के साथ-साथ वह टोक्यो ओलंपिक से पहले कुछ प्रतियोगिताओं में खेलने को लेकर बेताब हैं। इसे लेकर वह भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) के साथ मिलकर काम कर रहे हैं। चोट और कोविड—19 के कारण उनके पिछले दो साल बर्बाद हुए।

टोक्यो में पदक के प्रबल दावेदार माने जा रहे 23 वर्षीय नीरज ने कहा कि मैं अभ्यास में अपना शत प्रतिशत देने की कोशिश कर रहा हूं। मैं वैसा ही अभ्यास कर रहा हूं जैसे पहले किया करता था। अभ्यास अच्छा चल रहा है लेकिन मुझे प्रतियोगिताओं में खेलने की जरूरत है। हम इसके लिए प्रयास कर रहे हैं।

आगे कहा कि मैंने टॉप्स और साई से बात की और वे भी अपनी तरफ से सर्वश्रेष्ठ प्रयास कर रहे हैं। यदि कुछ होता है तो मुझे प्रतियोगिताओं में खेलने का मौका मिल सकता है क्योंकि पिछले दो वर्षों से मैं अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में नहीं खेल पाया हूं। 

चोपड़ा ने कहा कि ओलंपिक जैसी प्रतियोगिताओं में बेहतर प्रदर्शन के लिए अभ्यास ही पर्याप्त नहीं होता है। उन्होंने कहा कि यदि हम प्रतियोगिताओं में हिस्सा नहीं लेते हैं तो फिर अभ्यास का क्या फायदा। हम पिछले साल से अभ्यास कर रहे हैं लेकिन हमें अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताएं चाहिए।

यदि हम ओलंपिक स्तर के बारे में सोचते हैं तो हमें उन एथलीटों के साथ प्रतिस्पर्धा करने की भी जरूरत होती है। मुझे ओलंपिक में खेलने का अनुभव नहीं है। यह मेरे पहले ओलंपिक होंगे।