बकरी चराने गए चार बच्चे करंट की चपेट में आए, बाल बाल बचे

बिहार प्रतापगढ़: बकरी चराने गए चार मासूम बच्चे गिरे हुए टूटकर केबल से कटीले तारों में दौड़ रहे करंट की चपेट में आ गए। चारों अचेत हो गए। आसपास के लोगो की मदद से ले गए प्राथमिक उपचार के बाद बच्चों को होश आया। बाघराय थाना क्षेत्र के कर्माजीत पट्टी के चार बच्चे रविवार को घर से बकरियां चराने निकले। कुछ दूर पर खेत के पास लगी कंटीली बाड़ के भीतर बकरियां चली गई तो बच्चे उन्हें निकालने गए। बताते हैं कि बांस-बल्ली के सहारे खींचा गया बिजली का केबल टूटकर कंटीले तार के बाड़ पर गिरा था। इससें उसमें करंट दौड़ रहा था। बकरी निकालने के दौरान बच्चे कंटीले तार में दौड़ रहे करंट की चपेट में आ गए। बच्चों की चीख सुनकर आसपास के लोग दौड़े और लकड़ी के डंडे आदि से करंट से छुड़ाकर बच्चों को बचाया, लेकिन तब तक बच्चे अचेत हो चुके थे। राजलाल के बेटे पुनीत (9), अनुज (8), जगदीश गुप्ता की बेटी अंशिका (8) व धुंधुरकीपुर निवासी कमलेश के बेटे अक्षय (8) को घबराए परिजन इलाज के लिए सीएचसी ले गए। इलाज के दौरान बच्चे होश में आए तो परिजनों ने राहत की सांस ली। बताते हैं कि माहभर पहले उसी जगह टूटे तार की चपेट में आने से गांव के लालजी साहू की मौत हो गई थी। फिर भी विद्युत विभाग इस ओर कोई ध्यान नहीं दे रहा है। इससे ग्रामीणों में आक्रोश रहा।