बनौरामैनाथपट्टी के निर्वाचित प्रधान की मौत

 जीयनपुर, आजमगढ़। जीयनपुर कोतवाली क्षेत्र के बनौरामैनाथपट्टी के नवनिर्वाचित प्रधान की वाराणसी के एक निजी अस्पताल में गुरुवार को मौत हो गई ।चुनाव के दिन ही उनको हार्ट अटैक हो गया था। विदित हो कि रामानंद यादव 56 वर्ष पुत्र स्वर्गीय मंगल यादव अजमतगढ़ ब्लॉक के बनौरामैनाथपट्टी ग्राम सभा के प्रधान चुने गए थे ।वहां एक प्रत्याशी लक्षिराम यादव की पहले ही मौत हो गई थी। जिससे 19 अप्रैल को मतदान ना होकर वहां पर 29 अप्रैल को मतदान हुआ था ।29 अप्रैल को ही सुबह 10:00 बजे के लगभग रामानंद यादव को दिल का दौरा पड़ गया बूथ पर ही। परिजनों  तत्काल लेकर उनको जिला अस्पताल फिर वहां से वाराणसी स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया। दिल का दौरा पड़ने से दिमाग में कोई नस फट गई थी।पक्षघात भी हो गया था ।बायीं तरफ के सारे अंग काम नहीं कर रहे थे।इस बीच इलाज के दरमियान ही गुरुवार को वाराणसी के निजी अस्पताल में11बजे दिन उनकी मृत्यु हो गयी। प्रधान 185 मतों से निर्वाचित हुए थे। वहां पर कुल 1643 मत पढ़ा था ।जिसमें से 665 मत इनको मिला था ।वह अपने पीछे 2 पुत्र पंकज व अंगद दो पुत्री गुड्डी व सोनू पत्नी को छोड़ गए हैं ।पत्नी अनीता का रोकर बुरा हाल है।रामानंद यादव विगत कई बार इस ग्राम पंचायत ग्राम प्रधान पद के लिए चुनाव लड़े थे। किसी बार उनको सफलता नहीं मिली थी ।इस बार उनको सफलता मिली तो भगवान ने उनको बीच में ही उठा लिया।इस बात को उनको लोगों ने पहले बताया तो वे गांव आने के लिए बेताब थे।जीत की खुशी लोगों में बाँट भी नहीं सके। इस हृदयविदारक घटना से बनौरामैनाथपट्टी व आसपास के गाँव के लोगों में काफी दुख है।वे हँसमुख स्वभाव के व्यक्ति थे।