विभिन्न हिन्दू महामारीं ने महामारी में पेश की मानवता की मिसाल

                                        
हिंदू महासभा करवा चुकी हैं 19 कोरोना के शवों दाह संस्कार: चौधरी विश काम्बोज

 सहारनपुर। अखिल भारत हिंदू महासभा के अध्यक्ष पश्चिम उत्तरप्रदेश चौधरी विश सिंह काम्बोज ने बताया इस महामारी मे शहर सहारनपुर व देहात में सबसे पहले अपने हेल्पलाइन नंबर जारी कर लोगों से आग्रह किया कि कहीं भी हिंदू शवों का सम्मान से अंतिम संस्कार ना हो पा रहा हो व किसी भी जरूरतमंद व्यक्ति को किसी भी प्रकार की आवश्यकता हो जैसे कि ऑक्सीजन, खाने पीने की आवश्यक सामग्री, दवाईया, अस्पताल सेवा हर प्रकार की सेवा मे अखिल भारत हिन्दू महासभा के गाइडलाइन नंबर (9105362764, 7417549975) पर कॉल करे हिन्दू महासभा के प्रत्येक सदस्य जन जन की सेवा के लिये तत्पर है। 

चौधरी विश काम्बोज ने बताया की अब तक हमारे पास शवों के अंतिम संस्कार के काफ़ी फ़ोन आ चुके है और हमने 19 लोगो का अंतिम संस्कार करवा चुके है जहाँ अपने ही अपनों की लाशो से दुरी बना रहे है पास आने या हाथ तक लगाने मे फरेज कर रह है वहा हम जाते है बिना किसी को कुछ कहे लाश को शमशान लेकर हिन्दू रीती रीवाज  व सम्मान से अंतिम संस्कार करते है उन्होंने बताया की हम लोगो यह सेवा शहर के साथ साथ गांव देहात मे भी दे रहे है अभी 2 दिन पहले ही एक फ़ोन हिमांशु सैनी छुटमलपुर से आया जहा एक बिहार के मजदूर कोविड से मृत्यु हो गयी थी उसके बीवी बच्चे बिहार गए हुए थे उसका कोई रिस्तेदार भी नहीं था और आसपास के लोग पास आने को तैयार नहीं थे.. तब 20 मिनट मे वहां 4 लड़को के साथ पहुंच कर अपने ही ख़र्चे पर उस व्यक्ति का अंतिम संस्कार करवाया।,

चौधरी विश काम्बोज ने बताया की हमारी सेवा कार्य शक्ति सबका दुख देख कर कम नहीं हो रही है, तथा सभी हिन्दू महासभा के कार्यकत्र्ता सेवा करने मे आगे रहते है। 

उन्होंने कहा की जीवन एक बार मिला है क्यों ना इस जीवन को लोगो की सेवा मे लगाया जाये.. ये देश हिंदुस्तान हमारा है और हमें ही उसकी हिफाजत करनी है व सेवा करनी है..हम अपने फर्ज से आँखे नहीं बंद कर सकते है. उन्होंने जिन लोगो की सोच यह है की भगतसिंह पैदा तो हो पर अपने घर नहीं पडोसी के यहां हो उन लोगो से आग्रह किया कृपया ये सोच का त्याग करे और जरूरतमंद की मदद करे ऐसा करके बहुत अच्छा लगता है।

उनके साथ इस कार्य मे आशीष बसन जगतपुरिया,शिवम शर्मा, राहुल कुमार, राहुल, अभी शर्मा, मौजूद रहे।

 जहां एक ओर इस वैश्विक महामारी कोरोना को लेकर कुछ लोग लूट खसोट के धंधे में लगे है, वहीं दूसरी ओर सहारनपुर के हिन्दू महासभा से जुड़े रूद्र शिवा, अमनपंडित, हिमांशु शर्मा, हिमांशु आर्य, के अलावा आरएसएस से जुड़े युवा नेता राहुल झाम्ब अपने कुछ साथियों संचित अरोड़ा, सोनी शर्मा, गौरव कक्कड के साथ मिलकर वो कार्य कर रहे है, यदि आप सुनेंगे तो आप अचम्भे में पढ जायेंगे। इस कोरोना महामारी के दौर में उक्त सभी कोरोना योद्धा अपनी जान की परवाह किये बगैर कोरोना संक्रमित शवों का अंतिम संस्कार विधि विधान के साथ करने से भी नहीं चूक रहे है। यदि आप इन कोरोना योद्धाओं की गाथा सुनेंगे तो वह सब सोचने को मजबूर हो जायेंगे। कि जिन शवों के संस्कार हेतू अपने भी पास फटकने को तैयार नहीं, वहीं ये युवाओं की टोली विधि विधान से शवों को कंधा देकर अंतिम संस्कार करने में लगी है।

आपको बता दें कि जब हमारी मीडीया टीम द्वारा नुमाईश कैम्प सहित अन्य शमशान घाटों का दौरा किया गया तो एक बार हम भी हैरत में पड गये कि जिन कोरोना संक्रमित मृतकों का अंतिम संस्कार उनके परिवार वाले भी करने को तैयार नहीं है, उन शवों को ये कोरोना योद्धा कंधा देकर धार्मिक रीति रिवाज से संस्कार कर एक मिसाल कायम करने में लगे है, इन सभी योद्धाओं द्वारा किया गया ये कार्य की चहुंओर खुलकर प्रशंसा हो रही है। आपको बता दें कि इस टीम द्वारा अब तक लगभग 67 कोरोना संक्रमित मृतकों का अंतिम संस्कार जनपद सहारनपुर के अम्बाला रोड, नुमाईश कैम्प, हकीकत नगर सहित कलसिया रोड़ स्थित जैन समाज के श्मशान घाटों पर निःस्वार्थ किया जा चुका है। इस टीम के मुखिया राहुल झाम्ब ने संदेश दिया कि जिस परिवार में कोरोना संक्रमित की मृत्यु हो जाती है ।