छोटे से बच्चे के पेशाब से आने लगे बदबू, इग्नोर करने की बजाय करें ये काम, कोई बड़ी बीमारी का हो सकता है संकेत

शिशु की देखभाल करना आसान नहीं होता और अगर आप पहली बार पेरेंट बने हैं, तो ये काम और भी ज्यादा मुश्किल हो जाता है। आप कई गलतियां करते हैं और उससे सीखते भी हैं। शिशु की हर छोटी-बड़ी परेशानी आपको चिंता में डाल देती है। बच्चा रो रहा है या कभी ज्यादा देर सो गया है, हर बात आपको परेशान कर देती है। वहीं बच्चे के पेशाब में से बदबू आने पर भी मन घबरा जाता है कि कहीं कुछ गलत तो नहीं हो गया। अगर आपके साथ भी कभी ऐसा हुआ है या आप नन्हे शिशु के पेरेंट हैं, तो यहां जानें कि शिशु के पेशाब से बदबू क्यों आती है।

शिशु के पेशाब से बदबू आने के कारण 

मूत्र मार्ग में बैक्टीरिया पैदा होने पर यूटीआई हो जाता है। इसकी वजह से पेशाब से बदबू आ सकती है। यह परेशानी लड़कियों को ज्यादा होती है। इसमें बुखार, उल्टी और चिड़चिड़ेपन जैसे लक्षण भी दिखते हैं। यदि ब्रेस्टफीडिंग मां कुछ ऐसा खा ले जिससे तेज दुर्गंध आने की संभावना रहती हो, तो इससे भी बच्चे के पेशाब से बदबू आ सकती है। एस्पैरेगस, प्याज और लहसुन आदि को खाने से शिशु के पेशाब से बदबू आ सकती है।जब शिशु ब्रेस्ट मिल्क कम पीता है और भूखा रहता है और उसके शरीर में डिहाइड्रेशन हो जाती है, तो भी उसके पेशाब से बदबू आ सकती है।

पेशाब से क्यों आती है अमोनिया जैसी बदबू

कभी-कभी नवजात शिशु के पेशाब से तेज अमोनिया जैसी बदबू आ सकती है। इसे लेकर आपको चिंता करने की जरूरत नहीं है। सुबह के समय या बेबी के डिहाइड्रेट होने पर ऐसा हो सकता है। इस स्थिति में किडनी को पहले से ज्घ्यादा मेहनत करनी पड़ती है जिसकी वजह से पेशाब से अमोनिया जैसी बदबू आ सकती है।

शिशु के पेशाब से पॉटी की बदबू आना यूटीआई का संकेत हो सकता है। कभी-कभी गुदा का बैक्टीरिया मूत्र मार्ग में घुस सकता है, जिससे इंफेक्शन हो सकता है।

कुछ लोग शिकायत करते हैं कि उनके बेबी के पेशाब से विनेगर की गंध आ रही है। ऐसा डिहाइड्रेशन और यूटीआई के कारण हो सकता है। जुकाम होने पर भी पेशाब से ऐसी बदबू आ सकती है। पेशाब में बदबू आने पर कुछ और लक्षण भी दिखाई देते हैं, जैसे कि मूत्र मार्ग में संक्रमण, अनहेल्दी डाइट, पानी की कमी और बैक्टीरियल इंफेक्शन।

डॉक्टर को कब दिखाएं

यदि शिशु के पेशाब से बदबू आने की समस्या दूर नहीं हो रही है या स्थिति और ज्यादा खराब हो गई है, तो आप पीडियाट्रिशियन को जरूर दिखाएं।

अगर बच्चे के मल में खून आ रहा है, उल्टी या बुखार हो रहा है तो आपको बिना कोई देरी किए डॉक्टर को दिखाना चाहिए।जब शिशु के पेशाब से बहुत तेज बदबू आने लगे तो भी डॉक्टर को बताना जरूरी होता है। आप डॉक्टर की सलाह से कुछ घरेलू उपायों की मदद से भी इस समस्या को दूर कर सकते हैं।

posted by -दीपिका पाठक