कोरोना की दूसरी लहर से फेफड़े बचाएं

कोरोना की दूसरी लहर बेहद खतरनाक बताई जा रही है जिसका असर इंसान के फेफड़ों पर पड़ रहा है। कोरोना वायरस से होने वाला इंफेक्शन रेस्पिरेटरी यानि सांस से संबंधित बीमारी है जो फेफड़ों पर सीधा अटैक करती है। दूसरी लहर में मरीजों को ऑक्सीजन की कमी महसूस हो रही है ऐसे में फेफड़ों को मजबूत बनाना बहुत ज्यादा जरूरी है ताकि अगर कोरोना का संक्रमण हो भी तो आप मजबूती से इसका सामना कर सकें।

कुछ बातों का ख्याल रखकर आप फेफड़ों को मजबूत बना सकते हैं। 

अच्छी डाइट और भरपूर पानी 

फाइबर युक्त फल और सब्जियां, प्रोटीन युक्त और डेयरी प्रॉडक्ट्स का सेवन करें। लिक्विड चीजों का सेवन करें। पानी का अधिक सेवन करें। ग्रीन टी लस्सी आदि का सेवन करें। लहसुन अदरक ज्यादा खाएं। तुलसी-दालचीनी का काढ़ा बना कर पीेएं। इससे आपके फेफड़े हैल्दी बने रहेंगे। तेल में तले व मसालेदार भोजन से परहेज करें। इम्यून बूस्टर डाइट जैसे ओमेगा-3, नट्स, विटामिन सी साबुत अनाज आदि खाते रहें।

ब्रीदिंग एक्सरसाइज

हेल्थ एक्सपर्ट्स की मानें तो फेफड़ों की मजबूती के लिए प्राणायाम से बेहतर कोई उपाय नहीं है। डेली रूटीन में प्राणायाम, अनुलोम-विलोम जैसे ब्रीदिंग एकसराइज करें। कुछ मिनटों के लिए गहरी सांस लेना भी आपके फेफड़ों के लिए फायदेमंद है. इससे न सिर्फ आपके फेफड़ों साफ होते हैं। ब्रीदिंग एक्सरसाइज करने से स्ट्रेस और ऐंग्जाइटी भी दूर होती है।

स्मोकिंग से बचें और आदतें बदलें

धूम्रपान सिर्फ कोरोना ही नहीं बल्कि आपको फेफड़ों के कैंसर, अस्थमा जैसी बीमारियों में भी घेर सकते हैं। डब्लयूएचओ के मुताबिक, स्मोकिंग करने वालों को कोरोना के चलते गंभीर रुप से बीमार होने व मौत का खतरा अधिक है।

प्रदूषण से बचें

घर हो या बाहर, प्रदूषण से बचें। यह फेफड़ों के लिए हानिकारक हो सकता है। धूम्रपान का धुआं पीने वाले ही नहीं बल्कि आस-पास बैठे दूसरों को भी बीमार करता है। कैमिकल् भरे वातावरण धूल मिट्टी से खुद को बचाएं।

फिजिकल एक्टिविटी

फेफड़ों को एक्टिव रखने केलिए आपको एक्टिव होना बहुत जरूरी है। एक्सरसाइज आपके शरीर के साथ ही फेफड़ों और हृदय को भी स्वस्थ रखने में मदद करती है. इसलिए रोजाना 30 मिनट या हफ्ते में 150 मिनट एक्सरसाइज करना बेहद जरूरी है। आप एरोबिक्स और डांस का सहारा भी ले सकती हैं।

यह चीजें आपके फेफड़ों को हैल्दी रखेंगी।

posted by -दीपिका पाठक