हेड कोच जस्टिन लैंगर पर कोचिंग स्टाइल बदलने का बढ़ा दबाव, नाखुश हैं ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर्स

ऑस्ट्रेलियाई मेंस क्रिकेट टीम के हेड कोच जस्टिन लैंगर पर कोचिंग स्टाइल बदलने का दबाव शुरू हो गया है। ऑस्ट्रेलियाई ड्रेसिंग रूम के माहौल को बेहतर बनाने के लिए सीजन के अंत में लैंगर के काम को लेकर कड़ा रिव्यू दिया गया है। इस रिव्यू में इस बात पर जोर दिया गया है कि लैंगर को अपना कोचिंग स्टाइल बदलने की जरूरत है। रिव्यू में खिलाड़ी, सपोर्ट स्टाफ शामिल रहे, लैंगर के अलावा मैनेजर गेविन डोबे को भी सीधे-सीधे बोला गया है।

सिडनी मॉर्निंग हेराल्ड की खबर के मुताबिक ऑस्ट्रेलिया को जब भारत के खिलाफ बॉर्डर-गावस्कर सीरीज में 1-2 से हार का सामना करना पड़ा, उस समय खिलाड़ियों में लैंगर के इंटेंस मैनेजमेंट स्टाइल से असंतोष था। इसके अलावा इसमें यह भी कहा गया कि टीम कोच के मूड स्विंग्स से काफी परेशान है। इस रिव्यू में करीब 40 खिलाड़ियों और सपोर्ट स्टाफ के प्वॉइंट ऑफ व्यू शामिल हैं। 

सिडनी मॉर्निंग हेराल्ड से सीए की राष्ट्रीय टीम के बॉस बेन ओलिवर ने कहा, 'यह पिछले वर्ल्ड कप और 2019 एशेज से पहले किए गए प्रोसेस जैसा है, जहां टीम ने जोरदार प्रदर्शन किया था। यह मैदान पर और मैदान के बाहर सुधार के लिए हमारी निरंतर प्रतिबद्धता का हिस्सा है और हम उम्मीद करते हैं कि आने वाले टी20 वर्ल्ड कप और घरेलू एशेज के लिए टीम की तैयारी में इससे फायदा मिलेगा।'

टेस्ट कप्तान टिम पेन, टेस्ट उप-कप्तान पैट कमिंस और लिमिटेड ओवर फॉर्मैट में कप्तान आरोन फिंच को अब अगले सप्ताह इस सीजन के अंत की रिपोर्ट पेश करनी होगी। लैंगर को टिम फोर्ड की रिपोर्ट से फीडबैक भी मिलेगा। फोर्ड को क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने दो साल पहले स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर के गेंद से छेड़छाड़ पर बैन के बाद टीम में शामिल करने के लिए काम पर रखा था।