वैक्सीन की बर्बादी पर हेमंत सोरेन और सुशील मोदी की ट्विटर पर हुई जुबानी जंग

बिहार : एक तरफ जहां पूरा देश कोरोना महामारी से जंग लड़ रहा है, वहीं इस घातक बीमारी की वैक्सीन की बर्बादी को लेकर सियासत गरमा गई है। दरअसल, बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री और राज्यसभा सदस्य सुशील कुमार मोदी ने केंद्र की एक रिपोर्ट का जिक्र करते हुए कहा झारखंड सरकार पर निशाना साधा। इसके बाद झारखंड की सत्तधारी पार्टी ने भी बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री के ट्वीट पर पलटवार किया। असल में ट्विटर पर सुशील मोदी ने लिखा कि झारखंड के मुख्यमंत्री हेंत सोरेन ने प्रधानमंत्री की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के बाद अमर्यादित टिप्पणी की थी, आज इसी राज्य में वैक्सीन की बर्बादी सबसे ज्यादा 37.3 फीसद हो रही है। 

सुशील मोदी ने अपने ट्वीट में लिखा है कि झारखंड में हर तीसरी वैक्सीन किसी के काम आने के बजाय बेकार हो रही है। झारखंड में सबसे ज्यादा 37.3 फीसदी वैक्सीन बर्बाद हो रही है। इसके बाद छत्तीसगढ़ का नंबर आता है, जहां 30.2 फीसद वैक्सीन की बर्बादी होती है। सुशील मोदी ने बिहार में टीकाकरण के प्रबंधन को बेहतर बताया है।

इन सारे आरोपों को खारिज करते हुए हेमंत सोरेन ने इसे हास्यास्पद बताया है. उन्होंने कहा अपनी हताशा में भाजपा हर रोज एक नया शिगूफ़ा छोड़ती है। 37 प्रतिशत वैक्सीन बर्बाद करने का यह आंकड़ा न सिर्फ भ्रामक बल्कि हास्यास्पद भी है। अभी तक कुल प्राप्त 48, 63, 660 लाख वैक्सीन में भारत सरकार के ही आँकड़ों के हिसाब से 40 लाख 12 हज़ार 269 वैक्सीन झारखंड के लोगों को लग चुकी है।

सुशील मोदी के ट्वीट का जवाब देते हुए जेएमएम ने लिखा कि “इनसे (सुशील मोदी से) अपना राज्य नहीं संभल रहा और चले हैं झूठ की नींव पर महल बनाने। महोदय, बाढ़ के समय लोगों को छोड़कर आपका हाफ पैंट में भागना सभी ने देखा है, ऊपर से डिप्टी सीएम के पद से आपको भगा दिया। कुछ शर्म बची है तो बिहारवासियों के लिए थोड़ा काम ही कर लो।