नहीं रहे भारत सरकार के अवकाश प्राप्त वरिष्ठ अधिकारी देवीदयाल जी


1974 में गाज़ीपुर के डीएम रहे भारत सरकार के अवकाश प्राप्त वरिष्ठ आईएएस अधिकारी श्री देवीदयाल जी नहीं रहे।

वह बीते ढाई महीने से बीमार थे। आज 30 मई 2021 को वह सुबह 4 बजे दुनियां छोड़कर चले गए। ईश्वर उन्हें अपने श्री चरणों में स्थान दे।

बयासी वर्ष तक देश और समाज की सेवा करने वाले श्री देवीदयाल जी अपने पीछे अपने चाहने वालों की एक बड़ी जमात छोड़ गए हैं। उसमें से एक

उनके पुत्र श्री हर्ष दयाल जी जो एक अच्छे उद्यमी हैं।

उनकी पुत्री श्रीमती अलकनन्दा दयाल जी जो इस समय भारत सरकार में संयुक्त सचिव के पद पर तैनात हैं।

श्री देवीदयाल जी का जन्म जनपद इटावा के ग्राम मुनागंज में हुआ था। वह इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के बेहतरीन छात्रों में थे। 

बतौर आईएएस अधिकारी वह उत्तर प्रदेश सरकार और भारत सरकार में बड़े बड़े पदों पर आसीन रहें हैं। वह जहाँ रहें हैं, जिस पद पर रहे हैं, हमेशा समाज के अन्तिम आदमी के मित्र बनकर रहे।

उनके निधन से काफी लोग दुखी हैं, उनमें एक मैं भी हूँ। वरिष्ठ पत्रकार श्री अनिल त्रिपाठी और स्वराज इंडिया के श्री रमेश यादव भी हैं। श्री देवचन्द आज़ाद के लिए तो यह सूचना बज्रपात जैसी है। 

इस समय वह नोयडा में निवास कर रहे थे। गत 23 जनवरी को मेरी उनसे लम्बी बातचीत हुई, एक पुस्तक के बारे में जो उनके लम्बे प्रशासनिक और सामाजिक जीवन की निचोड़ है।

यह बातचीत उनके भक्त श्री देवचंद आज़ाद ( भारत सरकार के अवकाश प्राप्त उद्यान निदेशक ) के माध्यम से हुई थी। तय हुआ था कि प्रकाशन के पहले मैं उनकी किताब को पढ़ूं।

आज उनके नहीं रहने की सूचना बहुत खली। ईश्वर उनके परिवार और उनके चाहने वालों को यह दुःसह दुख सहने की शक्ति दे।

-धीरेन्द्र नाथ श्रीवास्तव

- सम्पादक

राष्ट्रपुरुष चन्द्रशेखर सन्सद में दो टूक

लोकबन्धु राजनारायण विचार पथ एक

अभी उम्मीद ज़िन्दा है