कोरोना काल में बोर्ड परीक्षा कराने पर प्रियंका गांधी वाड्रा ने CBSE को लगाई फटकार

नई दिल्ली: देशभर में कोरोनावायरस मामलों में तेज़ी से बढ़ोतरी हो रही है. ऐसे में मई में होने वाली बोर्ड परीक्षाओं को रद्द करने या फिर उन्हें ऑनलाइन आयोजित कराने की मांग बढ़ती जा रही है. वहीं अब प्रियंका गांधी वाड्रा भी छात्रों के पक्ष में सामने आई हैं. उन्होंने कोरोकाल के इन गंभीर हालातों में छात्रों को बोर्ड परीक्षा में बैठने के लिए कहने पर CBSE जैसे बोर्ड को फटकार लगाते हुए छात्रों के प्रति गैर जिम्मेदार व्यवहार बताया है.

प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्वीट कर कहा, "सीबीएसई जैसे बोर्डों के लिए यह गैर-जिम्मेदाराना है कि छात्रों को मौजूदा परिस्थितियों में परीक्षा में बैठने के लिए मजबूर किया जाए. बोर्ड परीक्षाओं को या तो रद्द कर देना चाहिए या उन्हें पुनर्निर्धारित करें या फिर परीक्षाओं को इस तरह से आयोजित किया जाना चाहिए कि भीड़ से भरे केंद्रों पर बच्चों की शारीरिक उपस्थिति की आवश्यकता न पड़े."

वहीं, हाल ही में कोविड-19 के मामलों में वृद्धि के मद्देनजर 10वीं और 12वीं कक्षा के 1 लाख से अधिक छात्रों ने याचिकाओं पर हस्ताक्षर कर सरकार से मई में होने वाली बोर्ड परीक्षाएं रद्द करने या उन्हें ऑनलाइन कराने का अनुरोध किया है. हालांकि, केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) और काउंसिल फॉर द इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशंस (CISCE) ने कहा कि छात्रों की सुरक्षा के लिए पर्याप्त बंदोबस्त किए गए हैं और परीक्षाओं के दौरान कोविड-19 के सभी दिशा निर्देशों का पालन किया जाएगा.

लेकिन बोर्ड परीक्षा को कैंसिल करने या ऑनलाइन आयोजित करने की मांग लगातार बढ़ती जा रही है. अब देखना यह होगा क्या सीबीएसई बोर्ड 10वीं और 12वीं के छात्रों के लिए परीक्षाएं कैंसिल करता है या फिर उन्हें तय शेड्यूल के अनुसार ही आयोजित करता है.