अधिकार

चलो सब हो जाओ तैयार,

मिला अधिकार आप को।

जन मन की यही पुकार,

मिला अधिकार आप को।--

 कल्लू होरी चुनियां मुनियां। 

देख रहे सब बदली दुनियां।।

सर्वत्र बहे विकास की गंगा,

निष्पक्ष बनाने को गंवई सरकार,

मिला  अधिकार आप को।-

चलो  सब होजाओ तैयार,

मिला अधिकार आप को।---

प्रतिशोध में दहक न जाना।

लक्ष्य से अपने बहक न जाना।।

सड़ी-गली रस्सी की नांई,

दबाव पड़ते चटक न जाना।।

छलिया बनकर निशाना साधे, हर कोई  आया तुम्हारे द्वार,

मिला अधिकार आपको।

चलो‌ सब‌ होजाओ तैयार,

मिला अधिकार आपको।----

अपने मत का दान करो।

अधिकार का सम्मान करो।।

अपने जाओ सबको समझाओ,

लोकतंत्र की मजबूती में,

मिल का पत्थर बन जाओ।।

उम्मीदों की नई किरण आलोकित कर दो।

तुम कुशल नेतृत्व के दाता हो।

गाईड लाईन के हद में रहना।

निश्चित दूरी का पालन करना।।

मुंह पर मास्क बेहद जरूरी,

कोरोना से स्वयं है बचना।।

तुम निष्ठा और कर्तव्य परायण,

विकास के मजबूत आधार।

मिला अधिकार आपको।

गौरीशंकर पाण्डेय सरस