निर्वाचन व्यवस्थाओं की समीक्षा के लिए डीएम की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई बैठक

बहराइच । जनपद में त्रिस्तरीय पंचायत सामान्य निर्वाचन-2021 को स्वतन्त्र, निष्पक्ष एवं शान्तिपूर्ण ढंग से सम्पन्न कराये जाने हेतु विभिन्न व्यवस्थाओं के लिए तैनात किये गये प्रभारी अधिकारियों के साथ कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए जिलाधिकारी शम्भु कुमार ने निर्देश दिया कि त्रिस्तरीय पंचायत सामान्य निर्वाचन हेतु नामांकन स्थलों पर वीडियोग्राफर की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। श्री कुमार ने पर्यवेक्षणीय अधिकारियों को निर्देश दिया कि नामांकन के समय अपने उत्तरदायित्वों का निर्वहन पूरी मुस्तैदी के साथ करेंगे। 

जिलाधिकारी ने निर्वाचन जैसे अतिमहत्वपूर्ण कार्य को सुव्यवस्थित ढंग से सम्पन्न कराये जाने के उद्देश्य से निर्देश दिया कि कार्मिकों के प्रशिक्षण हेतु राज्य निर्वाचन आयोग की गाइडलाइन के अनुसार समय से सभी माकूल बन्दोबस्त सुनिश्चित किए जाएं। प्रशिक्षण कार्यक्रम की गुणवत्ता को सर्वोपरि रखा जाय। प्रशिक्षण के दौरान यह सुनिश्चित कराया जाय कि पोलिंग पार्टी में नियुक्त किये गये सभी स्तर के अधिकारी भली प्रकार से अपने-अपने उत्तरदायित्चों को समझ लें। श्री कुमार ने यह भी निर्देश दिया कि ज़ोनल व सेक्टर मजिस्ट्रेटों की बैठक में सम्बन्धित खण्ड विकास अधिकारी व निर्वाचन अधिकारी अपनी-अपनी टीमों के साथ अनिवार्य रूप से उपस्थित रहेंगे। ताकि एक दूसरे के बीच बेहतर समन्वय स्थापित हो सके। 

सभी खण्ड विकास अधिकारियों को निर्देश दिया गया कि नामांकन प्रक्रिया के दृष्टिगत ब्लाक मुख्यालयों की पर्याप्त साफ-सफाई तथा अन्य व्यवस्थाएं समय से सुनिश्चित करायें। श्री कुमार ने खण्ड विकास अधिकारियों तथा निर्वाचन कार्य के जिम्मेदार अधिकारियों को सुझाव दिया गया कि सभी लोग एक-दूसरे के मोबाइल नम्बर अपने पास सुरक्षित कर लें ताकि संवादहीनता जैसी स्थिति न पैदा हो, और किसी भी समस्या का निस्तारण आसानी के साथ किया जा सके। कोविड-19 संक्रमण के दृष्टिगत श्री कुमार ने सभी बूथों पर आवश्यकतानुसार मास्क व सेनिटाइज़र इत्यादि की व्यवस्था कराये जाने का भी निर्देश दिया। चिकित्सा विभाग को निर्देश दिया गया कि नामांकन, मतदान, पोलिंग पार्टी की रवानगी, वापसी, प्रशिक्षण एवं मतगणना के समय आवश्यक दवाओं के साथ मेडिकल टीम की उपलब्धता सुनिश्चित करायेंगे। 

जिलाधिकारी श्री कुमार ने आर.ओ. सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिया कि राज्य निर्वाचन आयोग के दिशा निर्देशों की विधिवत जानकारी प्राप्त कर आयोग द्वारा दी गयी व्यवस्था के अनुसार अपने उत्तरदायित्वों का निर्वहन सुनिश्चित करें। उन्होंने कहाकि आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन से सम्बन्धित मामलों में नियमानुसार कड़ी कार्यवाही करें। निर्वाचन से सम्बन्धित उत्तरदायित्वों का निर्वहन पूरी पारदर्शिता के साथ तटस्थ रहते हुए करें। नामांकन से लेकर मतपत्र प्राप्त करने तक सुरक्षा व्यवस्था के बेहतर प्रबन्ध किये जायें। त्रिस्तरीय पंचायत सामान्य निर्वाचन में मतदाता सूची अति महत्वपूर्ण अभिलेख है इसलिए वोटरलिस्ट को लेकर पूरी सावधानी बरती जाये। 

विद्युत विभाग को निर्देश दिया गया कि नामांकन के समय सभी नामांकन स्थलों तथा मतगणना के समय मतगणना स्थलों पर निर्बाध विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित करने हेतु समय रहते व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाएं। बैठक के दौरान श्री कुमार ने एक-एक कर विभिन्न व्यवस्थाओं के बारे में प्रभारी अधिकारियों सेे अब तक की गयी तैयारियों के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त करते हुए आवश्यक दिशा निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि प्रत्येक स्तर पर राज्य निर्वाचन आयोग के दिशा निर्देशों का अक्षरशः अनुपालन सुनिश्चित कराया जाय। उन्होंने सभी अधिकारियों से कहा कि निर्वाचन के सम्बन्ध में सौपी गयी जिम्मेदारियों को पूरा करने में अपने-अपने अनुभव का भी फायदा उठायें।

बैठक का संचालन उप जिला निर्वाचन अधिकारी (पं.) जयचन्द्र पाण्डेय ने किया। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी कविता मीना, मुख्य राजस्व अधिकारी प्रदीप कुमार यादव, अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण अशोक कुमार, नगर मजिस्ट्रेट अनिल कुमार सिंह, उप जिलाधिकारी सदर सौरभ गंगवार आईएएस, नानपारा के राम आसरे वर्मा, पयागपुर के कीर्ति प्रकाश भारती, मिहींपुरवा (मोतीपुर) के जी.पी. त्रिपाठी, महसी के एस.एन. त्रिपाठी, कैसरगंज के महेश कुमार कैथल, जिला विकास अधिकारी राजेश कुमार मिश्र, परियोजना निदेशक डीआरडीए अनिल कुमार सिंह, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डाॅ. बलवन्त सिंह, उप निदेशक कृषि डाॅ. आर.के. सिंह, जिला विद्यालय निरीक्षक राजेन्द्र कुमार पाण्डेय, उपायुक्त उद्योग मोहन कुमार शर्मा, उपायुक्त मनरेगा के.डी. गोस्वामी, तकनीकी निदेशक एन.आई.सी. एस.ए.एच. रिज़वी, सहायक निदेशक रेशम एस.बी. सिंह, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी द्वय डाॅ. अर्चना सिंह व लल्लन प्रसाद वर्मा, विभिन्न व्यवस्थाओं के लिए नियुक्त किये गये पर्यवेक्षणीय अधिकारी, प्रभारी व सहायक प्रभारी अधिकारी, खण्ड विकास अधिकारी सहित अन्य सम्बन्धित लोग मौजूद रहे।