चार राज्यों से होकर पहुंची अतुल्य गंगा मिशन दल का हुआ स्वागत सबका साथ हो गंगा साफ हो का दिलाया संकल्प

-प्रत्येक दस किलोमीटर में नदी के प्रदूषण की बना रहे  रिपोर्ट 

-छह हजार किलोमीटर की यात्रा एक सो दस दिन में तय कर  दस लाख लोगो को जागरूकता अभियान से जोड़ा

चैडगरा फतेहपुर। भारत सरकार द्वारा स्वच्छ गंगा मिशन ,नमामि गंगे परियोजना के माध्यम से मोच्छ दायिनी गंगा के अस्तित्व को बचाने के संकल्प के साथ अतुल्य गंगा मिशन टीम द्वारा सबका साथ हो गंगा साफ हो के अन्तर्गत सेवानिवृत्त सैन्य अधिकारियों एवं गंगा प्रहरियों का दल नदी के किनारे पैदल यात्रा करते हुए  आशापुर डाँक बंगला पहुंचा जहाँ डी०जी० एन ० सी०सी० बैटन हस्तांतरण 60ध् यू०पी०बटालियन के कमान अधिकारी लेफ्टिनेंट कर्नल आर. के. सिंह ने आशा अभयपुर में 54 यू०पी० बटालियन कानपुर को सौंपा। जहाँ मौजूद  निवर्तमान ग्राम प्रधान पुत्र संजय सिंह द्वारा माल्यार्पण कर स्वागत किया गया। यात्रा को सुचारू रुप से सम्पन्न कराया। 54 यू पी बटालियन एनसीसी कानपुर ग्रुप द्वारा प्रयागराज ग्रुप से आगे की यात्रा के कर्नल अभिनव भारती ने कानपुर ग्रुप की ओर से राष्ट्रीय नदी अतुल्य गंगा मिशन की सफलता के लिए पूरी टीम को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं देते हुए मिशन में एन०सी०सी० के सार्थक सहयोग का संकल्प दोहराया। गंगासागर से गंगोत्री तक गंगा नदी के किनारे पैदल यात्रा का आयोजन अतुल गंगा मिशन के अंतर्गत सेवानिवृत्त सैन्य दल व गंगा सफाई के लिए जनजागृति अभियान के तहत गंगा को प्रदूषण मुक्त होने से बचाने व प्रदूषण के कारणों से संबंधित आंकड़ों को टीम एकत्रित करेगी यात्रा के दौरान दल इन आंकड़ों की तैयार रिपोर्ट को उन पांच राज्यों के जिलाधिकारियों को भी उपलब्ध कराएंगे, जहां से भागीरथी पतित पावनी गंगा नदी बहती है। अतुल्य गंगा मिशन का नेतृत्व कर्नल सेवानिवृत्त अतुल्य माइको केशवार द्वारा किया जा रहा है। जहां एन०सी०सी० कैडेट्स के अधिकारी व कर्मचारियों को संबोधित करते हुए बताया कि 4 नवंबर 2008 को तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह द्वारा गंगा नदी को राष्ट्रीय नदी का दर्जा प्रदान दिया गया। 1930 तक तक गंगा का जलस्तर व जल बहुत ही स्वच्छ व प्रदूषण मुक्त हुआ करता था लेकिन 90 वर्ष में नदी प्रदूषित हो गई। 110 दिन की यात्र के दौरान 33 सौ किलोमीटर की यात्रा तय  कर दल के सदस्य औंग पहुंचे  पत्रकारों से बात करते हुए बताया कि 10 लाख लोगों तक अतुल्य गंगा मिशन अभियान के तहत संकल्प दिलाया गया। यूथ को जोडने के लिए एन०सी०सी० कैडेट्स को अभियान से जोडा गया प्रत्येक 10 किलो मीटर में गंगा नदी के जलस्तर, स्वच्छता, व प्रदूषण सम्बन्धी रिपोर्ट तैयार की जा रही है। जो पाँच राज्यों के जिलेवार जिलाधिकारियों के साथ भारत सरकार पीएमओ कार्यालय को रिपोर्ट जाएगी आठ माह की यात्रा तय होनें के बाद आगामी 11 वर्षों का प्लान तैयार कर आगे भी विभिन्न प्रकार से कार्यक्रमों के माध्यम से गंगा को बचाने का अभियान चलाया जाएगा। यात्रा का उद्देश्य वैश्विक पटल पर गंगा व प्रदूषण के दुष्प्रभाव से अवगत कराना है।भूष्खलन,कटान,व नदी के जल संचयन को बचाने के लिए नदियों के किनारे वृक्षारोपण करें दल द्वारा अभी तक 30 हजार वृक्षरोपित किए गए है। जहाँ सभी को अपनी सहभागिता निभानी चाहिए। इस मौके पर. डीपीआरओ अजय आनंद सरोज, ग्राम पंचायत विकास अधिकारी मनीष शुक्ला, लेफ्टिनेंट धर्मेंद्र सिंह ,सर्वोदय इंटर कॉलेज गोपालगंज के एन०सी०सी० के कैडेट्स प्रमुख रुप से रहे मौजूद।