गीत

बेफिक्र सोने वालों को,

जगाया जारहा-----।

लौटा है फिर कोरोना,

ये बताया जा रहा-----।।

गफलत के दलदल में,

गोता न मारिए,

लगवाइए  इन्जेकशन,

अब लगाया जारहा,

लौटा है फिर कोरोना----।

सामाजिक दूरी,

मुंह पर है मास्क जरूरी, 

ना भीड़ हो इकट्ठा,

हटाया जा रहा,

लौटा है फिर कोरोना-----।

-गौरीशंकर पांडेय 'सरस,